scorecardresearch
 
कोरोना

MP: पति- बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में महिला ने दम तोड़ा, 4 दिन में घर से उठीं 3 अर्थियां

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 1/6

एमपी में बालाघाट जिले के सिकंदरा गांव में एक ही घर में चार दिन में तीन मौत होने से दहशत है. परिवार में 10 अप्रैल को 31 वर्षीय बेटे की कोरोना से मौत हो गई थी. 60 वर्षीय पिता कोरोना पाजिटिव पाए गए तो उन्हें होम आइसोलेशन में रख दिया. (बालाघाट से अतुल वैद्य की र‍िपोर्ट) 

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 2/6

बेटे की मौत से व्यथित 55 वर्षीय मां की तबीयत बिगड़ने पर बालाघाट में भर्ती किया गया. सोमवार रात 60 वर्षीय व्यक्ति ने भी दम तोड़ दिया. पति की मौत की खबर लगने पर दोपहर करीब एक बजे महिला ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया. इसी परिवार की एक 10 वर्षीय बालिका भी कोरोना पाजिटिव है.

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 3/6

बालाघाट का सिकंदरा गांव है जहां एक ही परिवार से 4 दिन के भीतर तीन अर्थी उठी हैं. सबसे पहले 31 वर्षीय बेटे की मौत हुई, फिर 60 वर्षीय पति की भी मौत कोरोना से हो गई. पति और बेटे की मौत का सदमा 55 वर्षीय बुजुर्ग महिला नहीं झेल पाई और उसने भी इलाज के दौरान जिला अस्पताल में जान दे दी. घर में और भी लोग पॉजिटिव है जिसमें 10 साल की बेटी भी शामिल है.  घटना के बाद पूरा गांव दहशत में है. जिस गली में यह परिवार रहता है वहां से गुजरने से भी लोग डर रहे हैं. कोरोना से बढ़ते मौत के आंकड़े डराने वाले हैं.

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 4/6

सरपंच एवं ग्राम प्रधान  इथोबा मात्रे ने बताया क‍ि मेरे गांव में एक ही गांव परिवार के तीन लोगों की मौत हुई है. बहुत ही दुखद घटना है. गांव में भारी आक्रोश और गम का माहौल है. प्रशासन को चाहिए कि यहां आकर हालातों की चिंता करें.

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 5/6

एक परिवार से तीन मौतें हुई हैं. घर का काम आने वाला बेटा, घर का मुखिया पिता और मां. इस घटना के बाद गांव में इतनी दहशत है कि लोगों ने घरों से निकलना बंद कर दिया है. लोग उस घर की गली तक आने से बच रहे हैं. परिवार एक तरफ गम में है और दूसरी तरफ सदमे में लोगों के डर और बेरुखी ने भी तकलीफ को और बढ़ाने का काम किया है.

पति और बेटे की कोरोना से मौत, सदमे में में पत्नी ने दम तोड़ा, 4 दिन में एक ही परिवार से उठीं 3 अर्थियां
  • 6/6

भोपाल-जबलपुर जैसे बड़े शहरों के बाद मध्य प्रदेश के बालाघाट, छिंदवाड़ा, सिवनी जैसे छोटे जिलों में भी कोरोना ने पैर पसारना शुरू कर दिया है. संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ यहां मौतों के आंकड़ों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है.