scorecardresearch
 

प्रीमियम नहीं भरने से बंद हो गई पॉलिसी, अब LIC का 'डिस्काउंट' में चालू कराने का ऑफर

LIC के इस अभियान के तहत ULIP के अलावा सभी तरह की पॉलिसी को पहली प्रीमियम (Premium) में चूक की तिथि से 5 वर्ष की अवधि के भीतर कुछ शर्तों के साथ फिर चालू कर सकते हैं.

X
बंद हो चुकी LIC Policy को ऐसे कराएं चालू
बंद हो चुकी LIC Policy को ऐसे कराएं चालू

अगर आपके पास भारतीय जीमा बीमा निगम (LIC) की पॉलिसी थी, जो लैप्स यानी बंद हो चुकी है. तो आपके पास इसे फिर चालू करना का शानदार मौका है. दरअसल, एलआईसी ने बंद हो चुकी व्यक्तिगत बीमा पॉलिसियों (Lapsed Policies) को फिर से शुरू करने के लिए एक अभियान शुरू किया है. यह अभियान बुधवार से चालू हो गया है. 

21 अक्टूबर करा सकेंगे चालू
एलआईसी की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया कि ULIP को छोड़कर सभी पॉलिसियों को इस विशेष कैंपेन (LIC Campaign) के तहत लेट फीस (Late Fees) के साथ चालू किया जा सकता है. कैंपेन के तहत इस लेट फीस में पॉलिसीधारकों को छूट भी दी जाएगी. देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी की ओर से बताया गया कि यह अभियान 17 अगस्त को शुरू होकर 21 अक्टूबर 2022 तक जारी रहेगा. 

इन पॉलिसियों में 100% छूट 
पीटीआई के मुकाबिक, LIC की ओर से बताया गया कि सूक्ष्म बीमा पॉलिसी (Micro Insurance Policies) के लिए लेट फीस में पॉलिसीधारक को 100 फीसदी छूट मिलेगी, ताकि उसका जोखिम कवर किया जा सके. ध्यान रहे इस अभियान के तहत ULIP के अलावा सभी तरह की पॉलिसी को पहली प्रीमियम (Premium) में चूक की तिथि से 5 वर्ष की अवधि के भीतर कुछ शर्तों के साथ फिर चालू कर सकते हैं. यानी सभी नॉन-यूलिप पॉलिसी (LIC Non ULIP Policies) को एक्टिव कराया जा सकता है.

इसलिए शुरू किया अभियान
दरअसल, एलआईसी ने यह अभियान ऐसे पॉलिसीधारकों (LIC Policy Holders) के लिए शुरू किया है, जो किसी ना किसी कारण से प्रीमियम का पेमेंट नहीं कर पाए थे. इसके चलते उनकी बीमा पॉलिसी बंद हो गई थी. कंपनी ने सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए इस कैंपेन की जानकारी साझा की है. एलआईसी की ओर से किए गए ट्वीट (Tweet) में बताया गया कि पॉलिसीहोल्डर्स को अपनी लैप्स्ड पॉलिसी फिर से चालू कराने के लिए कंपनी विशेष मौका दे रही है.

प्रीमियम पर मिलेगी इतनी छूट
एलआईसी के अनुसार, इस अभियान के तहत पॉलिसीहोल्डर्स को 1 लाख रुपये तक के कुल प्रीमियम के लिए लेट फीस में 25 फीसदी की छूट दी जाएगी. इस छूट की अधिकतम सीमा 2,500 रुपये होगी. इसके अलावा 1 से 3 लाख रुपये के कुल प्रीमियम के लिए अधिकतम छूट की राशि 3,000 रुपये निर्धारित की गई है. इससे ऊपर 3 लाख रुपये से अधिक के प्रीमियम पर लेट फीस की बात करें तो यह कुल प्रीमियम का 30 फीसदी होगा या अधिकतम 3,500 रुपये की छूट मिलेगी.

LIC को पहली तिमाही में मुनाफा
बीते दिनों LIC ने वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के नतीजे घोषित किए थे. इसके तहत कंपनी को अप्रैल-जून की तिमाही में 682.9 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ है. वहीं, पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में LIC का मुनाफा सिर्फ 2.6 करोड़ रुपये रहा था. LIC को यह मुनाफा वार्षिक आधार पर हुआ.

हालांकि, तिमाही के आधार पर बीमा कंपनी के मुनाफे में गिरावट आई है. क्योंकि मार्च की तिमाही में LIC का नेट प्रॉफिट 2,371.5 करोड़ रुपये रहा था. तिमाही के आए नतीजों के बाद LIC की ओर से कहा गया कि आने वाली तिमाहियों में कंपनी के मुनाफे में उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा. 

बढ़त में कारोबार कर रहे शेयर
इसी साल मई में एलआईसी के देश के इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ (LIC IPO) पेश किया था. हालांकि, इसने निवेशकों को निराश किया. कंपीन ने शेयर के लिए अपर प्राइस बैंड 949 रुपये तय किया था. लेकिन, इनकी Stock Market में लिस्टिंग डिस्काउंट के साथ हुई थी. लिस्ट होने के बाद से ही शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही थी.

कंपनी निवेशकों के हित में कई कदम उठाने के दावे कर रही है. फिलहाल, एलआईसी के शेयरों (LIC Stocks) की बात करें तो ये बढ़त में कारोबार कर रहे हैं. बुधवार को दोपहर एक बजे तक के कारोबार में यह 0.33 फीसदी चढ़कर 699.95 रुपये पर था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें