scorecardresearch
 

वॉलमार्ट इंडिया ने 50 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, विस्तार पर रोक

वॉलमार्ट इंडिया ने अपने गुरुग्राम मुख्यालय से 50 कर्मचारियों को नौकरी से बाहर निकाल दिया है. इसमें कई डिवीजन के वाइस प्रेसिडेंट तक शामिल हैं. वॉलमार्ट ने भारत में अपने कई नए स्टोर की विस्तार योजनाओं को भी रोक दिया है.

भारत में बेस्ट प्राइस स्टोर चलाती है वॉलमार्ट भारत में बेस्ट प्राइस स्टोर चलाती है वॉलमार्ट

  • वॉलमार्ट इंडिया ने 50 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला
  • इसमें कई डिवीजन के वाइस प्रेसिडेंट तक शामिल हैं
  • वॉलमार्ट ने भारत में विस्तार योजनाओं को भी रोक दिया है

वॉलमार्ट इंडिया ने अपने गुरुग्राम मुख्यालय से 50 कर्मचारियों को नौकरी से बाहर निकाल दिया है. इसमें कई डिवीजन के वाइस प्रेसिडेंट तक शामिल हैं. इनमें 8 वरिष्ठ अध‍िकारी शामिल हैं. कंपनी ने पिछले हफ्ते आयोजित टाउनहॉल में इसकी घोषणा की है.

विस्तार योजनाओं पर लगी रोक!

इकोनॉमिक टाइम्स की एक खबर के अनुसार, वॉलमार्ट ने भारत में अपने कई नए स्टोर की विस्तार योजनाओं को भी रोक दिया है. कंपनी ने नए स्टोर खोलने के काम में लगे अपनी रियल एस्टेट टीम को भी भंग कर दिया है.

भारत में कब आई थी वॉलमार्ट

भारत में आए एक दशक से ज्यादा बीत जाने के बाद भी वॉलमार्ट इंडिया की बिक्री सुस्त है और मुनाफे पर भी संशय है. गौरतलब है कि साल 2007 में वॉलमार्ट ने भारती समूह के साथ साझेदारी कर भारत के होलसेल कारोबार में कदम रखा था. साल 2013 में वॉलमार्ट ने भारती की पूरी 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीद इस कारोबार को अकेले संभाल लिया था.

कंपनी की सफाई

इस खबर पर वॉलमार्ट ने अपनी सफाई दी है. वॉलमार्ट इंडिया के प्रेसिडेंट व सीईओ कृष अय्यर ने Aajtak.in को भेजे एक बयान में कहा, 'हम ज्यादा दक्षता से संचालन करने के तरीके भी तलाश रहे हैं, जिसके लिए हमें अपने कॉरपोरेट ढांचे की समीक्षा करनी होती है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हम सही ढंग से संचालन करते रहें.'

उन्होंने कहा, 'इस समीक्षा के बाद कॉरपोरेट ऑफिस में विभिन्न स्तरों पर कार्यरत 56 एसोसिएट को जाना पड़ा है. इनमें 8 सीनियर मैनेजमेंट में तथा 48 मध्यम व निचले मैनेजमेंट स्तर पर थे. इन सभी को कई लाभ देकर और आउटप्लेसमेंट सेवाओं के साथ विदा किया गया है ताकि उन्हें मदद मिल सके. कुछ अखबारों में यह खबर आई है कि अप्रैल में छंटनी का दूसरा दौर होगा, यह आशंका निराधार और असत्य है.' 

ऐसा लगता है कि वॉलमार्ट को भारत में ऑफलाइन कारोबार में ज्यादा भविष्य नहीं दिख रहा है और वह फ्लिपकार्ट के माध्यम से ऑनलाइन कारोबार पर ही ज्यादा फोकस करेगी. वॉलमार्ट ने साल 2018 में फ्लिपकार्ट को खरीद लिया था.

हालांकि कंपनी इस बात से इंकार करती रही है कि वह होलसेल कारोबार से बाहर जाएगी. वॉलमार्ट के भारत में करीब 21 कैश एंड कैरी स्टोर्स हैं. ये स्टोर बेस्ट प्राइस मॉर्डन होलसेल स्टोर (बेस्ट प्राइस ) के नाम से चलते हैं. ये स्टोर देश के 9 राज्यों में हैं.  वॉलमार्ट इंडिया की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक भारत में फिलहाल उसका कारोबार मेंबरश‍िप पर आधारित है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें