scorecardresearch
 

बिकवाली से बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, सेंसेक्‍स 39 हजार के नीचे

मंगलवार का दिन भारतीय शेयर बाजार के लिए उतार-चढ़ाव भरा रहा. सेंसेक्‍स ने रिकॉर्ड बढ़त के साथ शुरुआत की लेकिन कारोबार के आखिरी घंटों में 300 अंक से ज्‍यादा टूट गया. 

सेंसेक्‍स 39 हजार के नीचे सेंसेक्‍स 39 हजार के नीचे

चुनावी नतीजों से पहले मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार ने रिकॉर्ड बढ़त के साथ शुरुआत की लेकिन आखिरी घंटों में बिकवाली की वजह से यह 380 अंक से ज्‍यादा टूट गया. सप्‍ताह के दूसरे कारोबारी दिन सेंसेक्स 383 अंक टूटकर 38,970 अंक पर रहा जबकि निफ्टी 119.15 अंक के नुकसान से 11,709 अंक के स्‍तर पर आ गया.

किन शेयरों का क्‍या हाल

मंगलवार के कारोबार में सबसे अधिक गिरावट बैंकिंग सेक्‍टर के शेयर में रही. इसके अलावा ऑटो और मेटल सेक्‍टर के शेयर भी बिकवाली की वजह से टूट गए. कारोबार के अंत में बढ़त वाले शेयर रिलायंस, बजाज फाइनेंस और एचयूएल के रहे. जबकि लाल निशान पर बंद होने वाले शेयरों की बात करें तो टाटा मोटर्स, इंडसइंड बैंक, मारुति, भारती एयरटेल, हीरो मोटोकॉर्प, एसबीआईएन, महिंद्रा एंड महिंद्रा, पावर ग्रिड, टाटा स्‍टील, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक, इन्‍फोसिस, टीसीएस, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक रहे.

ऐतिहासिक बढ़त के साथ हुई शुरुआत

इससे पहले मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार की रिकॉर्ड स्‍तर पर शुरुआत हुई. सेंसेक्‍स शुरुआती मिनटों में ही 220 अंक की तेजी के साथ 39570 के स्‍तर को पार कर गया. शेयर बाजार के इतिहास में यह पहली बार है जब सेंसेक्‍स ने इतनी बड़ी बढ़त दर्ज की है. इससे पहले सेंसेक्‍स हमेशा 39,500 के नीचे ही रहा है. वहीं अगर निफ्टी की बात करें तो 50 अंक से ज्‍यादा तेजी के साथ 11,880 के स्‍तर पर आ गया. निफ्टी का यह अब तक का उच्‍चतम स्‍तर है.

टाटा मोटर्स में सबसे अधिक गिरावट

कारोबार के दौरान टाटा मोटर्स के शेयर 7 फीसदी से अधिक टूट गए. दरअसल, टाटा मोटर्स को पूरे वित्त वर्ष 2018-19 में 28 हजार 724 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ है, जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष में कंपनी को 9,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का मुनाफा हुआ था. कंपनी का शुद्ध लाभ 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही में 49 फीसदी घटकर 1,108.66 करोड़ रुपये रहा.

1422 अंक मजबूत हुआ था सेंसेक्‍स

इससे पहले सोमवार को कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 1421 की बढ़त के साथ 39,352 के स्‍तर पर बंद हुआ. सेंसेक्‍स 10 साल के उच्‍चतम स्‍तर की बढ़त पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी 421 अंक मजबूत होकर 11,828 के स्‍तर पर रहा. सोमवार के कारोबार के दौरान बैंकिंग सेक्‍टर के शेयर में सबसे अधिक तेजी रही. सोमवार को इस तेजी का फायदा निवेशकों को मिला और संपत्ति 5 लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा बढ़ गई.

क्‍या 40 हजार पार कर जाएगा सेंसेक्‍स!

बता दें कि एग्जिट पोल के नतीजों में मोदी सरकार की वापसी की वजह से 3 कारोबारी दिन में सेंसेक्‍स 2000 अंकों से ज्‍यादा मजबूत हुआ था. वहीं निफ्टी की बात करें तो यह 800 अंक के करीब चढ़ा है. ऐसे में बाजार के जानकारों को लगता है कि शेयर बाजार चुनावी नतीजों से पहले 40 हजार के जादूई आंकड़े को टच कर लेगा.

इस बीच, मंगलवार को शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 6 पैसे गिरकर 69.80 रुपये प्रति डालर रह गया. हालांकि, दुनिया की दूसरी मुद्राओं के समक्ष डॉलर के मजबूत रुख से रुपये में आज शुरुआती कारोबार में नरमी रही. इससे पहले सोमवार को रुपया 49 पैसे बढ़कर 69.74 रुपये पर बंद हुआ.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें