scorecardresearch
 

बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ सेंसेक्‍स, Yes Bank के शेयर में 7% की गिरावट

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 14 अंक की गिरावट के साथ 40,788 खुला. दूसरी तरफ, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 19 अंक की तेजी के साथ 12,067.65 पर खुला, लेकिन बाद में इसकी भी तेजी चली गई.

शेयर बाजार में गिरावट शेयर बाजार में गिरावट

  • शेयर बाजार में मंगलवार को गिरावट का रुख
  • BSE सेंसेक्स 14 अंक की गिरावट के साथ 40,788 खुला
  • नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 12,067 पर खुला

हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन शेयर बाजार में बड़ी गिरावट दर्ज की गई. कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 126 अंक लुढ़क कर 40 हजार 675 अंक पर बंद हुआ तो वहीं निफ्टी 54 अंक की गिरावट के साथ 12 हजार के नीचे 11 हजार 994 अंक पर बंद हुआ. सबसे अधिक गिरावट वाले शेयर की बात करें तो यस बैंक है. यस बैंक के शेयर में 7 फीसदी से अधिक की फिसलन देखने को मिली.

इससे पहले बाजार की सुस्‍त शुरुआत हुई. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 14 अंक की गिरावट के साथ 40,788 खुला. वहीं दोपहर 2 बजे के बाद सेंसेक्‍स में 200 अंकों से अधिक की गिरावट दर्ज की गई. इसी तरह निफ्टी 19 अंक की तेजी के साथ 12,067.65 पर खुला, लेकिन बाद में यह लाल निशान पर कारोबार करता दिखा. दोपहर 2 बजे के बाद निफ्टी 70 अंक तक लुढ़क कर 12 हजार के मनोवैज्ञानिक आंकड़े के नीचे आ गया.

इस बीच,  रुपये में कारोबार की मंगलवार को दूसरे दिन नरमी के साथ हुई और यह डॉलर के मुकाबले 71.70 पर खुला. सोमवार को रुपये का कारोबार 71.66 पर बंद हुआ था.

सुबह बीएसई इंडेक्‍स में शेयर के हाल

sensex-10-10_120319101624.jpg

सोमवार को रहा था उतार-चढ़ाव

गौरतलब है कि सोमवार को शेयर बाजार के कारोबार में काफी उतार-चढ़ाव रहा, जिसके बाद अंतत: बीएसई सेंसेक्स 8.36 अंक की मजबूती के साथ 40,802.17 पर बंद हुआ. दूसरी तरफ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी करीब 8 अंक की गिरावट के साथ 12048 पर बंद हुआ था.

एनएसई, बीएसई से निलंबित हुआ कार्वी

एनएसई, बीएसई ने कार्वी की ब्रोकिंग मेंबरशिप को निलंबित कर दिया है. इक्विटी, डेरिवेटिव, कमोडिटी सभी सेगमेंट में कार्वी को ट्रेडिंग से रोक दिया गया है. ग्राहकों की 2,300 करोड़ रुपये की हेराफेरी के मामले में कार्वी पर यह कार्रवाई की गई है.

इस हफ्ते किन आंकड़ों पर रखें नजर

 देश के शेयर बाजार में इस सप्ताह निवेशकों की नजर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक पर रहेगी. इसके अलावा बाजार की दिशा तय करने में प्रमुख आर्थिक आंकड़ों की अहम भूमिका होगी.

घरेलू शेयर बाजार में बीते सप्ताह जीडीपी के खराब आंकड़ों से निवेशकों का मनोबल टूटा जिसके कारण सप्ताह के आखिरी सत्र में गिरावट दर्ज गई और इसका असर बाजार पर इस सप्ताह भी देखने को मिलेगा.

वहीं, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव, डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल समेत सप्ताह के दौरान जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का भी असर देखने को मिलेगा. ऑटो कंपनियों की बिक्री त्योहारी सीजन में कुछ सुधरने के बाद फिर नवंबर में गिर गई है.

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की द्विमासिक समीक्षा बैठक मंगलवार को शुरू हो रही है जिसके नतीजे गुरुवार को आएंगे. आरबीआई इस बैठक में प्रमुख ब्याज दर में फिर कटौती को लेकर फैसला ले सकता है.   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें