scorecardresearch
 

MOTN: सरकार के आत्मनिर्भर अभियान को मिला समर्थन, 53 फीसदी लोग गदगद

कोरोना वायरस के संक्रमण काल में केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर अभियान की शुरुआत की है. इस अभियान से 50 फीसदी से ज्यादा लोग खुश हैं.

आत्मनिर्भर अभियान को अच्छा रिस्पॉन्स आत्मनिर्भर अभियान को अच्छा रिस्पॉन्स

  • अभियान के तहत 21 लाख करोड़ के पैकेज का हुआ है ऐलान
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर अभियान का किया था ऐलान

लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए एक अभियान का ऐलान किया था. इसे आत्मनिर्भर भारत अभियान नाम दिया गया. सरकार के इस अभियान को लोगों का समर्थन मिल रहा है. करीब 50 फीसदी से ज्यादा लोगों का मानना है कि सरकार का ये अभियान काफी सही वक्त का और कारगर है. हालांकि, 35 फीसदी से ज्यादा लोग ये भी कह रहे हैं कि भारत इस कैंपेन के लिए क्षमतावान नहीं है.

atmanirbhar_080820091721.jpg

53 फीसदी लोग अभियान से खुश

दरअसल, मूड ऑफ द नेशन जानने के लिए आजतक ने कर्वी इनसाइट्स लिमिटेड के साथ मिलकर एक सर्वे किया है. इस सर्वे में देश का मिजाज समझने की कोशिश की गई है. इस सर्वे से पता चलता है कि 53 फीसदी लोग आत्मनिर्भर भारत अभियान से खुश हैं जबकि 38 फीसदी लोगों को इस पर भरोसा नहीं है.

ये पढ़ें—MOTN: चीन की धोखेबाजी से खफा देश का जनमत, 59 फीसदी बोले युद्ध करना चाहिए

वहीं, नौ फीसदी लोगों ने इस पर कुछ भी कहने से इनकार किया है. अहम बात ये है कि दक्षिण और पश्चिम से इस कैंपेन को सबसे ज्यादा समर्थन मिला है.

ये पढ़ें—MOTN LIVE: कोरोना संकट से कैसे निपटी मोदी सरकार? जनता ने ये दिया जवाब

क्या है आत्मनिर्भर अभियान?

दरअसल, आत्मनिर्भर अभियान के तहत सरकार ने करीब 21 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया है. इस पैकेज का ऐलान देश को संबोधित करते हुए खुद पीएम मोदी ने किया था. पीएम मोदी ने बताया कि यह पैकेज देश की जीडीपी का 10 फीसदी है. इस पैकेज के तहत एमएसएमई समेत अन्य सेक्टर को कर्ज देकर कारोबार शुरू करने और आत्मनिर्भर बनाने की पहल की जा रही है. वहीं, पावर, रियल एस्टेट समेत अन्य सेक्टर को भी सरकार की ओर से मदद की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें