scorecardresearch
 

MOTN: 2014 के बाद PM मोदी ने बदली इकोनॉमी की तस्वीर, जानें सर्वे में क्या बोले लोग

आजतक के सर्वे के मुताबिक साल 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश की इकोनॉमी में सुधार हुआ है.

आजतक के सर्वे में मिली जानकारी आजतक के सर्वे में मिली जानकारी

  • 48 फीसदी लोगों के मुताबिक मोदी सरकार में इकोनॉमी में सुधार
  • 42 फीसदी लोगों के मुताबिक इकोनॉमी की हालत जस की तस है

साल 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश के इकोनॉमी की तस्वीर बदल रही है. ये जानकारी आजतक और कर्वी इनसाइट्स लिमिटेड के सर्वे से मिलती है.

मूड ऑफ द नेशन (MOTN) के नाम से किए गए इस सर्वे के मुताबिक करीब 48 फीसदी लोग मानते हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद इकोनॉमी में सुधार हुआ है. हालांकि, 42 फीसदी लोगों के मुताबिक इकोनॉमी जस की तस है. वहीं, 10 फीसदी लोगों का मानना है कि इस दौरान इकोनॉमी की हालत बिगड़ी है.

सर्वे के दौरान ये भी पूछा गया कि पीएम मोदी के सत्ता में आने के बाद आर्थिक रूप से आपकी स्थिति कैसी है. इस सवाल के जवाब में 48 फीसदी लोगों ने माना कि सुधार हुआ है. वहीं, 42 फीसदी लोगों का कहना है कि कोई बदलाव नहीं हुआ है जबकि 10 फीसदी लोगों का मानना है कि स्थिति बुरी हो गई.

ये पढ़ेंं—MOTN: आर्थिक संकट से निपटने में सरकारी स्कीम्स सहारा, 58% लोगों ने दिखाई दिलचस्पी

इसमें करीब 27 फीसदी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने खराब आर्थिक हालात का जिक्र किया. वहीं, आठ फीसदी हिंदुओं को लगता है कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद उनकी आर्थिक सेहत खराब हुई है.

43% लोगों ने माना मनमोहन ​सरकार से बेहतर

सर्वे में 43 फीसदी लोगों का मानना है कि मोदी सरकार में इकोनॉमी की सेहत मनमोहन सिंह की सरकार से बेहतर है. हालांकि, जनवरी 2020 के मुकाबले इस आंकड़े में गिरावट आई है. जनवरी 2020 में करीब 50 फीसदी लोगों ने माना था कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए के कार्यकाल से बेहतर हालात बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार में हैं.

वहीं, 45 फीसदी लोग यूपीए की तुलना में एनडीए शासनकाल में इकोनॉमी को स्टेबल देखते हैं जबकि 10 फीसदी लोगों को लगता है कि मोदी सरकार में यूपीए सरकार के मुकाबले अर्थव्यवस्था की हालत खराब हुई है. हालांकि, दो फीसदी लोगों ने कोई जवाब नहीं दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें