scorecardresearch
 

टैक्स कटौती का वादा पूरा करते ही मोदी से बड़े दरियादिल बनेंगे ट्रंप

ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका में ज्यादा से ज्यादा नौकरियां पैदा करने के लिए अमेरिका के छोट-बड़े कारोबारियों को बड़ी टैक्स सौगात देने जा रहें. मुद्रा की वैल्यू में ट्रंप द्वारा कॉरपोरेट टैक्स में प्रस्तावित वैल्यू भारत में किसानों को दी जा रही कर्जमाफी से कई गुना बड़ी है.

अब ट्रंप की बारी, टैक्स राहत देकर क्या कंगाल हो जाएगा अमरेका अब ट्रंप की बारी, टैक्स राहत देकर क्या कंगाल हो जाएगा अमरेका

ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका में ज्यादा से ज्यादा नौकरियां पैदा करने के लिए अमेरिका के छोट-बड़े कारोबारियों को बड़ी टैक्स सौगात देने जा रहें. मुद्रा की वैल्यू में ट्रंप द्वारा कॉरपोरेट टैक्स में प्रस्तावित वैल्यू भारत में किसानों को दी जा रही कर्जमाफी से कई गुना बड़ी है.

अमेरिका में कॉरपोरेट जगत को यह सौगात देने के लिए फिलहाल कोई मसौदा तैयार नहीं है माना जा रहा है जहां मोदी की कर्जमाफी से जीडीपी में 2 फीसदी की गिरावट दर्ज हो सकती है वहीं अमेरिका कंगाली अमेरिका में भी घर कर सकती है. हालांकि, अमेरिकी ट्रेजरी मंत्री के मुताबिक यह अमेरिकी इतिहास में सबसे बड़ा टैक्स कट होगा.

ट्रंप की बिजनेस के लिए टैक्स सौगात
1- छोटे कारोबारियों के लिए मौजूदा टैक्स दर 39.6 फीसदी से घटाकर 15 फीसदी कर दिया जाएगा

2. बड़े कारोबारियों पर मौजूदा 35 फीसदी टैक्स को कम करके 15 फीसदी कर दिया जाएगा.

3. ट्रंप की पार्टी का दावा इस टैक्स छूट से बढ़ जाएगी आर्थिक ग्रोथ, आ जाएंगी नौकरियां ही नौकरियां.

मध्यम वर्ग को राहत देने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान अमेरिका में बड़ी संख्या में नौकरी के अवसर पैदा करने और आर्थिक तेजी लाने का वादा किया था. अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने के मौके पर अब ट्रंप सरकार इस वादे पर अमल करने की तैयारी कर रही है. राष्ट्रपति ट्रंप अमेरिकी कांग्रेस के सामने कॉरपोरेट टैक्स में सबसे बड़ी कटौती करने के लिए प्रस्ताव लाने जा रहे हैं. ट्रंप का यह टैक्स प्रस्ताव कांग्रेस से पारित हो जाता है तो इसका सीधा असर सरकारी खजाने पर पड़ना तय है क्योंकि इससे अमेरिकी सरकार की टैक्स से कमाई घटकर आधी से कम हो जाएगी.

ट्रंप प्रशासन का दावा है कि डोनाल्ड ट्रंप के इस प्रस्ताव से मध्यम वर्ग को मुख्य आर्थिक धारा में लाने का काम आसान हो जाएगा और अमेरिकी में बेरोजगारी की समस्या खत्म हो जाएगी. जिसके चलते अमेरिका में खुशहाली के साथ-साथ तेज आर्थिक गति देखने को मिलेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें