scorecardresearch
 

कोरोना इफेक्ट: सर्विस सेक्टर की हालत ठीक नहीं, लगातार पांचवें महीने आई गिरावट

देश के सर्विस सेक्टर (सेवा क्षेत्र) में जुलाई माह के दौरान भी गिरावट रही. कोरोना वायरस के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में लगने वाले लॉकडाउन ने कंपनियों को कामकाज में कमी लाने और कर्मचारियों की संख्या में कटौती रखने को मजबूर किया जिससे सेवा क्षेत्र में गिरावट बरकरार रही.

​सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में गिरावट ​सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में गिरावट

  • ​सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में जुलाई में भी आई गिरावट
  • कोरोना की वजह से ​जुलाई में सर्विस सेक्टर का PMI 34.2

कोरोना की वजह से पिछले पांच महीने से सर्विस सेक्टर के प्रदर्शन में लगातार गिरावट देखी जा रही है. देश के सर्विस सेक्टर (सेवा क्षेत्र) में जुलाई माह के दौरान भी गिरावट रही.

कोरोना वायरस के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में लगने वाले लॉकडाउन ने कंपनियों को कामकाज में कमी लाने और कर्मचारियों की संख्या में कटौती रखने को मजबूर किया जिससे सेवा क्षेत्र में गिरावट बरकरार रही.

इसे भी पढ़ें: क्या वाकई शराब पर निर्भर है राज्यों की इकोनॉमी? जानें कितनी होती है कमाई?

आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी PMI इंडेक्स जुलाई माह में 34.2 अंक पर रहा. हालांकि, जून के 33.7 अंक के मुकाबले यह मामूली सुधार में रहा. असल में पीएमआई का 50 अंक से ऊपर रहना किसी फील्ड में बढ़त और 50 अंक से नीचे रहने पर यह गिरावट को दर्शाता है.

लगातार पांचवां महीना है जब ​सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में गिरावट देखी गई है. आईएचएस मार्किट इंडिया के सर्विस सेक्टर के परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) के मुताबिक जुलाई महीने में सूचकांक में मामूली वृद्धि होने के बावजूद सर्विस सेक्टर में लगातार पांचवें महीने गिरावट देखी गई.

सुधार में लगेंगे कई महीने!

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, आईएचएस मार्किट के इकोनॉमिस्ट लेविस कूपर ने कहा, ‘इतने लंबे समय तक ऐसी बड़ी गिरावट में किसी तरह का व्यापक सुधार आने में सालों नहीं पर कई महीने लग सकते हैं.' आईएचएस मार्किट के अनुमान को देखते हुये देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में मार्च 2021 में समाप्त होने वाले वर्ष में 6 फीसदी से अधिक की गिरावट का संकेत मिलता है.

इसे भी पढ़ें: 7 रुपये का शेयर 2 साल में 800 रुपये का, क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा?

क्या है सर्विस सेक्टर में गिरावट की वजह

आईएचएस मार्किट के सर्वे में भाग लेने वालों ने कोविड- 19 महामारी के कारण समय-समय पर लगने वाले लॉकडाउन जैसे उपायों, कमजोर मांग की स्थिति और कंपनियों में कामकाज का अस्थाई तौर पर रोक को सर्विस सेक्टर की गतिविधियों और ऑर्डर बुक, दोनों में आई गिरावट से जोड़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें