scorecardresearch
 
बिजनेस

मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए

मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए
  • 1/5
मोदी सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के बीच टकराव के बीच गवर्नर उर्जित पटेल ने तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है. उर्जित पटेल ने अपने बयान में कहा है कि वो निजी कारणों से इस्तीफा दे रहे हैं.

मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए
  • 2/5
प्रधानमंत्री मोदी की सरकार का भारतीय इकोनॉमी के लिहाज से यह तीसरा बड़ा इस्तीफा है. अहम बात ये है कि तीनों ने अपने इस्‍तीफे की वजह निजी बताई है.
मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए
  • 3/5
पटेल ने कहा कि यह उनके लिए बड़े सम्मान की बात थी कि वह इतने वर्षों तक आरबीआई के साथ अनेक भूमिकाओं में रहे. हाल ही में केन्द्रीय बैंक गवर्नर और केन्द्र सरकार में स्वायत्तता को लेकर विवाद खड़ा हुआ था. हालांकि इस विवाद के बाद केन्द्र सरकार में बयान दिया था कि उसके और केन्द्र सरकार के बीच स्वायत्तता को लेकर कोई विवाद नहीं हैं.

मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए
  • 4/5
जबकि अगस्‍त 2017 में नीति आयोग के उपाध्यक्ष रहे अरविंद पनगढ़िया ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. 31 अगस्त उनका इस पद पर आखिरी दिन होगा. कहा जा रहा है कि अरविंद पनगढ़िया वापस शिक्षा के क्षेत्र में जाना चाहते हैं. 62 साल के पनगढ़िया भारतीय-अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं. वह कोलंबिया विश्विद्यालय में प्रोफेसर रहे हैं. वह एशियाई विकास बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री और कालेज पार्क मैरीलैंड के अंतरराष्ट्रीय अर्थशास्त्र केन्द्र में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर और सह-निदेशक रह चुके हैं. प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीएचडी हासिल करने वाले पनगढ़िया विश्व बैंक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व व्यापार संगठन और व्यापार एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (एंकटाड) में भी विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं.

मोदी सरकार में 3 बड़े इस्‍तीफे, सबने निजी कारण ही बताए
  • 5/5

इससे पहले अरविंद सुब्रमण्यम ने  जुलाई 2018 में व्यक्तिगत कारणों से मुख्य आर्थिक सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया था. अरविंद सुब्रमण्यम ने अक्टूबर, 2014 में मुख्य आर्थ‍िक सलाहकार का पद संभाला था. उन्होंने रघुराम राजन की जगह ली थी. अरविंद सुब्रमण्यम का कार्यकाल मई 2019 तक था.