scorecardresearch
 
बिजनेस

5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह

5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 1/6
देश के प्रमुख शहरों में आवासीय फ्लैटों का औसत आकार 27 प्रतिशत घटा है. एनारॉक की एक रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है. हालांकि, इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में फ्लैटों का औसत आकार मात्र 6 प्रतिशत घटा है. (Photo: File)
5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 2/6
एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने सोमवार को कहा, 'नकदी संकट, खरीदारों की प्राथमिकता में बदलाव और मकानों की कीमत को लेकर चिंता की वजह से बिल्डर अब 'बड़ा बेहतर है' से हटकर सात प्रमुख शहरों में छोटी आवासीय इकाइयां बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. (Photo: File)
5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 3/6
संपत्ति सलाहकार ने कहा कि 7 प्रमुख शहरों मुंबई महानगर क्षेत्र, दिल्ली-एनसीआर, पुणे, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोलकाता में फ्लैटों का औसत आकार पांच साल में 27 प्रतिशत घटकर 1,020 वर्ग फुट रह गया है. 2014 में यह 1,400 वर्ग फुट था. (Photo: File)
5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 4/6
पुरी ने कहा कि हैरान करने वाली बात यह है कि हाल के वर्षों में एनसीआर का रियल एस्टेट बाजार सबसे अधिक प्रभावित हुआ है. लेकिन एनसीआर में फ्लैटों का औसत आकार मात्र छह प्रतिशत घटा है. अभी एनसीआर में फ्लैटों का औसत आकार 1,390 वर्ग फुट है. (Photo: File)
5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 5/6
मुंबई महानगर क्षेत्र में फ्लैटों का औसत आकार सबसे अधिक 45 प्रतिशत घटकर 2014 के 960 वर्ग फुट से 530 वर्ग फुट पर आ गया है. पुणे में फ्लैटों का औसत आकार 38 प्रतिशत घटकर 600 वर्ग फुट पर आ गया है. रिपोर्ट के अनुसार चेन्नई, बेंगलरु और हैदराबाद में फ्लैटों के औसत आकार में क्रमश: 8 फीसदी, 9 फीसदी और 12 फीसदी की गिरावट आई है. (Photo: File)
5 साल में देश के इन 7 बड़े शहरों में 27% छोटे हुए फ्लैट, ये है वजह
  • 6/6
मुंबई महानगर क्षेत्र में फ्लैटों का औसत आकार सबसे अधिक 45 प्रतिशत घटकर 2014 के 960 वर्ग फुट से 530 वर्ग फुट पर आ गया है. पुणे में फ्लैटों का औसत आकार 38 प्रतिशत घटकर 600 वर्ग फुट पर आ गया है. रिपोर्ट के अनुसार चेन्नई, बेंगलरु और हैदराबाद में फ्लैटों के औसत आकार में क्रमश: 8 फीसदी, 9 फीसदी और 12 फीसदी की गिरावट आई है. (Photo: File)