scorecardresearch
 

Indo-US Trade: चीन-PAK सब पीछे... अमेरिका ने दिया दोस्ती का सबूत, 15 देशों में सबसे ज्यादा भारत करीब!

उद्योग मंडल CII की ओर से कोलकाता में आयोजित ‘ईस्ट इंडिया समिट 2022’ में एक सत्र को संबोधित करते हुए Melinda Pavek ने कहा कि 2022 के पहले 6 महीने में भारत और अमेरिका के बीच 67 अरब डॉलर का व्यापार हुआ है. 

X
भारत-अमेरिका के बीच मजबूत रिश्ते
भारत-अमेरिका के बीच मजबूत रिश्ते

भारत (India) और अमेरिका (America) के बीच व्यापारिक रिश्तों में मजबूती के आंकड़े सामने आए हैं. खासकर पिछले एक साल में कारोबारी रिश्ते तेजी से बेहतर हुए हैं. वैसे तो बीते एक साल में अमेरिका और उसके शीर्ष 15 साझेदार देशों के बीच व्यापार में बढ़ोतरी हुई है. 

लेकिन इन सब देशों से में सबसे अधिक बढ़ोतरी भारत के साथ होने वाले व्यापार में हुई है. यह जानकारी कोलकाता में अमेरिका की महावाणिज्य दूत (Consul General) मेलिंडा पावेक (Melinda Pavek) ने दी. दरअसल, उद्योग मंडल CII की ओर से कोलकाता में आयोजित ‘ईस्ट इंडिया समिट 2022’ में एक सत्र को संबोधित करते हुए Melinda Pavek ने कहा कि 2022 के पहले 6 महीने में भारत और अमेरिका के बीच 67 अरब डॉलर का व्यापार हुआ है. 

अमेरिका-भारत के बीच कारोबारी रिश्ते हुए बेहतर

उन्होंने कहा कि जनवरी से जून के बीच अमेरिका ने भारत को 23 अरब डॉलर का निर्यात किया, जबकि भारत ने अमेरिका को 44 अरब डॉलर का निर्यात किया है. मेलिंडा पावेक ने कहा, 'बीते एक साल में अमेरिका का अपने शीर्ष 15 साझेदारों के साथ व्यापार बढ़ा है और मैं गर्व के साथ कहना चाहती हूं कि सबसे बड़ी बढ़ोतरी भारत के साथ व्यापार में हुई है. अमेरिकी कंपनियां भारत के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का सबसे बड़ा स्रोत हैं.'

गौरतलब है कि अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार वित्त वर्ष 2021-22 में 119.42 बिलियन अमेरिकी डॉलर का रहा था. जबकि वर्ष 2020-21 में यह 80.51 बिलियन अमेरिकी डॉलर था. अमेरिका को निर्यात वर्ष 2021-22 में बढ़कर 76.11 बिलियन अमेरिकी डॉलरा हो गया, जो पिछले वित्त वर्ष में 51.62 बिलियन अमेरिकी डॉलर था, जबकि 2020-21 में आयात लगभग 29 बिलियन अमेरिकी डॉलर से 43.31 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो गया. 

चीन का विकल्प बनेगा भारत?

उन्होंने बताया कि अमेरिका की कई एजेंसियां पूर्वी भारत में विकास परियोजनाओं में शामिल हैं. क्योंकि भारत एक विश्वसनीय व्यापारिक भागीदार के रूप में उभर रहा है और वैश्विक फर्में आपूर्ति के लिए चीन पर अपनी निर्भरता को कम कर रही हैं. तथा भारत जैसे अन्य देशों के माध्यम से व्यापार में विविधता ला रही हैं. 

बता दें, अमेरिका को भारत से मुख्यत: पेट्रोलियम उत्पादों, पॉलिश हीरे, फार्मा उत्पाद, आभूषण, हल्के तेल वगैरह का निर्यात किया जाता है. वहीं अमेरिका से भारत पेट्रोलियम पदार्थ, तरल प्राकृतिक गैस, सोने, कोयले और बादाम का आयात करता है.

सेवाओं के निर्यात के लिए अमेरिका लगातार भारत का सबसे बड़ा बाजार रहा है. हाल ही में अमेरिका को सामान की बिक्री के मामले में भी इसने चीन को पीछे छोड़ दिया, जिससे यह भारत का सबसे बड़ा द्विपक्षीय व्यापारिक भागीदार बन गया. 1.39 अरब की आबादी के साथ भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें