scorecardresearch
 

टाटा की इस कंपनी का परचम, HDFC को पछाड़कर बना भारत का सबसे Valuable Brand

Kantar की रिपोर्ट के मुताबिक, TCS की ब्रांड वैल्यू 2020 से 2022 के बीच 212% बढ़ी है. कंपनी ने जून तिमाही के लिए Net Profit में 5.2% की सालाना तेजी और राजस्व में 16% की जोरदार बढ़ोतरी दर्ज की है. गुरुवार को खबर लिखे जाने तक शेयर बाजार में टीसीएस स्टॉक 3,111.90 रुपये पर ट्रेड कर रहे थे.

X
TCS देश का सबसे वैल्यूवल ब्रांड
TCS देश का सबसे वैल्यूवल ब्रांड

रतन टाटा के नेतृत्व वाले टाटा समूह के नाम एक और उपलब्धि लगी है. ग्रुप की आईटी सेक्टर में दिग्गज कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) भारत का सबसे मूल्यवान (Most Valuable) भारतीय ब्रांड बन गया है. टीसीएस ने पहले इस पायदान पर मौजूद एचडीएफसी बैंक को पीछे छोड़ते हुए अपना परचम लहराया है. मार्केटिंग डेटा और एनालिटिक्स कंपनी, कांतार (Kantar) ने बुधवार को Kantar BrandZ Top 75 Most Valuable Indian Brands 2022 रिपोर्ट जारी की है. जिसमें टाटा की कंपनी टॉप पर है. 

एशिया प्रशांत में दूसरे नंबर पर 
Kantar BrandZ India रैंकिंग के अनुसार टीसीएस (TCS) की ब्रांड वैल्यू 45,519 मिलियन डॉलर है, जो इस सॉफ्टवेयर दिग्गज को मोस्ट वैल्यूवल ब्रांद की लिस्ट में टॉप पर रखती है. रिपोर्ट में कहा गया कि टीसीएस की ब्रांड वैल्यू 2020 से 2022 के बीच 212 फीसदी बढ़ी है. इस तेजी के साथ आईटी दिग्गज ने रैंकिंग लिस्ट में दो पायदान की छलांग लगाई है. ऐसा करते हुए रतन टाटा की कंपनी ने एक नंबर पर मौजूद एचडीएफसी बैंक को पीछे छोड़ दिया है. वहीं एशिया प्रशांत स्तर (Asia Pacific) पर टीसीएस, सैमसंग के बाद दूसरा सबसे मूल्यवान ब्रांड बनकर उभरा है. 

एचडीएफसी बैंक को पछाड़ा 
टीसीएस के टॉप पर पहुंचने के बाद HDFC Bank अब कांतार की इस लिस्ट में वैल्यू के हिसाब से दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि TCS बिजनेस सॉल्यूशंस और टेक्नोलॉजी प्रोवाइडर्स सेवाओं में शानदार प्रदर्शन करते हुए टॉप-6 भारतीय ब्रांडों का नेतृत्व कर रहा है. यह अब शीर्ष 75 की रैंकिंग के कुल मूल्य का 24 फीसदी है. ये ब्रांड घरेलू और वैश्विक कस्टमर्स की जरूरतों को पूरा करने के साथ-साथ भारत की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) में भी बड़ी भूमिका निभा रहे हैं. 

FY22 में टेक सेक्टर में तेज वृद्धि
कांतार की रिपोर्ट में कहा गया कि आज, भारत के टेक ब्रांड राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में केवल बड़े नियोक्ता और योगदानकर्ता नहीं रह गए हैं, बल्कि वे स्वयं भारत के लिए मानक वाहक बने हैं, जो देश की तकनीकी विशेषज्ञता, नवाचार और वर्कफोर्स के स्किल को वैश्विक स्तर पर आगे बढ़ा रहे हैं. रिपोर्ट में NASSCOM के डेटा का हवाला देते हुए बताया गया कि FY22 में भारत के टेक सेक्टर ने 200 अरब डॉलर के राजस्व का आंकड़ा पार कर लिया है. उद्योग के सभी हिस्सों ने इस दौरान दहाई के अंकों की वृद्धि दर्ज की है. 

जून तिमाही में प्रॉफिट में आया उछाल
आईटी सेक्टर की दिग्गज टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने हाल के महीनों में मजबूत वृद्धि देखी की है. टीसीएस ने जून तिमाही के लिए शुद्ध लाभ (Net Profit) में 5.2 फीसदी की सालाना तेजी और राजस्व में 16 फीसदी की जोरदार बढ़ोतरी दर्ज की है. गुरुवार को खबर लिखे जाने तक शेयर बाजार में टीसीएस (TCS) के स्टॉक 3,111.90 रुपये पर ट्रेड कर रहे थे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें