scorecardresearch
 

Share Market Crash: खुलते ही शेयर मार्केट में हाहाकार, 1100 अंक से ज्यादा गिरा Sensex

इससे पहले बुधवार को कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 109.94 अंक (0.20 फीसदी) गिरकर 54,208.53 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी 19 अंक (0.12 फीसदी) फिसलकर 16,240.30 अंक पर बंद हुआ था.

X
भारी गिरावट में बाजार भारी गिरावट में बाजार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्री-ओपन में 1500 अंक से ज्यादा टूटा सेंसेक्स
  • बुधवार को 5 फीसदी से ज्यादा गिरा US Market

Stock Market Update: चंद दिनों की राहत के बाद शेयर बाजार में फिर से बिकवाली का दौर लौट आया है. लगातार गिरावट के बाद इस सप्ताह बाजार को थोड़ी राहत मिली थी, लेकिन आज गुरुवार को शुरुआती कारोबार में ही बाजार भरभरा गया. बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) और एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) शुरुआती कारोबार में ही 2 फीसदी से ज्यादा नुकसान में चले गए.

खुलते ही इस कदर गिरा बाजार

बाजार प्री-ओपन सेशन से ही भारी गिरावट के संकेत दे रहा था. प्री-ओपन में बीएसई सेंसेक्स 1500 अंक से ज्यादा गिरा हुआ था. एसजीएक्स निफ्टी भी 300 अंक से ज्यादा की गिरावट में था. बाजार जैसे ही ओपन हुआ, सेंसेक्स 950 अंक से ज्यादा के नुकसान में चला गया. चंद मिनटों के कारोबार में बाजार और गिरता ही चला गया. सुबह के 09:20 बजे सेंसेक्स 1115.13 अंक (2.06 फीसदी) गिरकर 53,093.40 अंक पर कारोबार कर रहा था. निफ्टी 332.20 अंक (2.04 फीसदी) के नुकसान के साथ 15,900 अंक के पास बना हुआ था.

कल मजबूत शुरुआत के बाद हुआ घाटा

इससे पहले बुधवार को भी बाजार में गिरावट देखने को मिली थी. बुधवार को बाजार ने कारोबार की शुरुआत तो बढ़त के साथ की थी, लेकिन दोपहर बाद रेड जोन में चला गया था. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 109.94 अंक (0.20 फीसदी) गिरकर 54,208.53 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी 19 अंक (0.12 फीसदी) फिसलकर 16,240.30 अंक पर बंद हुआ था.

सप्ताह की शुरुआत रही थी अच्छी

सप्ताह के शुरुआती दोनों दिन लंबे समय बाद बाजार में तेजी देखने को मिली थी. मंगलवार को सेंसेक्स 1,344.63 अंक (2.54 फीसदी) की बढ़त के साथ 54,318.47 अंक पर और निफ्टी 417 अंक (2.63 फीसदी) उछलकर 16,259.30 अंक पर रहा था. सोमवार को सेंसेक्स 180.22 अंक (0.34 फीसदी) चढ़कर 52,973.84 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह निफ्टी 81.25 अंक (0.51 फीसदी) मजबूत होकर 15,863.40 अंक पर बंद हुआ था.

बाजार को सता रहा इस बात का डर

दशकों की सबसे ज्यादा महंगाई और आने वाले समय में आर्थिक मंदी की आशंका के कारण दुनिया भर के इन्वेस्टर्स डरे हुए हैं. भारत में खुदरा महंगाई आठ साल के और थोक महंगाई 22 साल के उच्च स्तर पर है. अमेरिका में भी महंगाई की दर 03 दशक से ज्यादा के हाई लेवल पर है. ब्रिटेन में भी महंगाई 4 दशक के उच्च स्तर पर है. इसके अलावा चीन में महामारी की नई लहर और रूस-यूक्रेन जंग के चलते ग्लोबल सप्लाई चेन में व्यवधान पैदा हो गए हैं. बिगड़े हालात से आर्थिक मंदी का दौर वापस आने की आशंका गहरा गई है. इसके चलते इन्वेस्टर्स बाजार से भारी बिकवाली कर रहे हैं.

ग्लोबल मार्केट का ऐसा बुरा हाल

अमेरिकी बाजार कल भारी गिरावट में रहे थे. डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 1164 अंक गिरकर 31,490 अंक पर रहा था. इसी तरह NASDAQ Composite Index 4.73 फीसदी के नुकसान में रहा था. एसएंडपी 500 भी 04 फीसदी से ज्यादा टूटा था. इसका असर आज के कारोबार में एशियाई बाजारों पर भी देखने को मिल रहा है. जापान का निक्की 542 अंक यानी 02 फीसदी से ज्यादा गिर गया. चीन का शंघाई कंपोजिट 0.08 फीसदी के और हांगकांग का हैंगसेंग 2.25 फीसदी के नुकसान में रहा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें