scorecardresearch
 

भारत की बेस्ट एम्प्लॉयर है रिलायंस! Forbes की वर्ल्ड टॉप 50 लिस्ट में एक भी भारतीय कंपनी नहीं 

Forbes World Best Employers rankings: फोर्ब्स वर्ल्ड बेस्ट एम्प्लॉयर- 2021 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) भारत में टॉप पर रखा गया है. हालांकि दुनिया के टॉप 50 बेस्ट एम्प्लॉयर की सूची में कोई भी भारतीय कंपनी जगह नहीं बना पाई है. 

रिलांयस भारत में टॉप पर (फाइल फोटो) रिलांयस भारत में टॉप पर (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फोर्ब्स ने जारी की सूची
  • बेस्ट एम्प्लॉयर्स की रैंकिंग

Forbes द्वारा जारी 2021 के लिए दुनिया के सर्वश्रेष्ठ एम्प्लॉयर्स की सूची ‘फोर्ब्स वर्ल्ड बेस्ट एम्प्लॉयर- 2021’ में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) भारत में टॉप पर रखा गया है. हालांकि दुनिया के टॉप 50 बेस्ट एम्प्लॉयर की सूची में कोई भी भारतीय कंपनी जगह नहीं बना पाई है. 

फोर्ब्स रैंकिंग के अनुसार विश्व स्तर पर रिलायंस 52वें स्थान पर है. इस सूची में दुनिया के कुल 750 कॉरपोरेट को स्थान दिया गया है. लिस्ट के अनुसार दुनिया की टॉप 5 बेस्ट एम्प्लॉयर्स में पहले नंबर पर दक्ष‍िण कोरिया की सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स है. इसके बाद क्रमश: चार अमेरिकी कंपनियों आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट, एमेजॉन और ऐपल का नंबर है. 

ये हैं टॉप भारतीय कंपनियां 

वर्ल्ड की बेस्ट एम्प्लॉयर्स सूची में रिलायंस के बाद 65वें स्थान पर ICICI बैंक, 77वें स्थान पर HDFC बैंक और 90वें स्थान पर  HCL टेक्नोलॉजी है. भारतीय स्टेट बैंक को 119वां और लार्सन ऐंड टूब्रो को 127वां स्थान मिला, जबकि इंफोसिस 588वें और टाटा समूह 746वें स्थान पर रहे. एलआईसी को 504वां स्थान मिला है. 

कैसे हुई रैंकिंग

यह रैंकिंग एक व्यापक सर्वेक्षण पर आधारित है, जिसमें कर्मचारी अपने नियोक्ता को कई बिंदुओं पर अंक देते हैं. फोर्ब्स ने बाजार अनुसंधान कंपनी स्टेटिस्टा के साथ मिलकर विश्व के सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं की वार्षिक सूची तैयार की है. रैंकिंग निर्धारित करने के लिए स्टेटिस्टा ने बहुराष्ट्रीय कंपनियों और संस्थानों में काम करने वाले 58 देशों के 1.5 लाख कर्मचारियों का सर्वे किया. 

इस सूची में दूसरे से सातवें स्थान पर अमेरिकी कंपनियों का कब्जा है. इनमें आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट, एमेजॉन, ऐपल, अल्फाबेट और डेल टेक्नालॉजी जैसी कंपनियां शामिल हैं.  इसके बाद 8वें नंबर पर हुवावे है, जो शीर्ष 10 में शामिल अकेली चीनी कंपनी है. 

क्या कहा रिलायंस ने 

आरआईएल ने एक बयान में कहा, ‘कोविड महामारी के दौरान सबसे बुरे वक्त में यह उपलब्धि हासिल करना महत्वपूर्ण है. कोविड के बुरे दौर में रिलायंस ने यह सुनिश्चित किया कि किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती न की जाए. वह नौकरी की चिंता किए बिना काम कर सके.' रिलायंस ने कहा कि उसने महामारी के दौरान कर्मचारियों के इलाज और उनके परिवार के टीकाकरण का भी पूरा ध्यान रखा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें