scorecardresearch
 

Mukesh Ambani ने दूसरे साल भी बिना वेतन किया काम, पहले लेते थे इतनी सैलरी

Mukesh Ambani Salary: दुनिया के 10वें सबसे अमीर इंसान रिलायंस चीफ (RIL Chief) मुकेश अंबानी ने कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद जून 2020 से अपना वेतन (Salary) ना लेने का फैसला किया था और लगातार दो साल से वे बिना वेतन के ही काम कर रहे हैं.

X
Mukesh Ambani ने दूसरे साल भी बिना वेतन किया काम
Mukesh Ambani ने दूसरे साल भी बिना वेतन किया काम
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना काल में वेतन छोड़ने का किया था फैसला
  • इससे पहले मिल रही थी 15 करोड़ रुपये सैलरी

एशिया के दूसरे सबसे अमीर इंसान और देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) बिना वेतन के अपना पद संभाल रहे हैं. ये लगातार दूसरा साल है, जब उन्होंने अपने काम के एवज में 'शून्य' सैलरी ली है.  

RIL की रिपोर्ट में दी गई जानकारी

अंबानी ने कोरोना महामारी (COVID-19 Outbreak) से कारोबार और देश की इकोनॉमी (Economy) पर हुए असर को देखते हुए स्वेच्छा से अपना पारिश्रमिक त्याग दिया था. ये लगातार दूसरा साल है जब रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने वेतन नहीं लिया है.

जून 2020 में उन्होंने 2020-21 के लिए अपने वेतन को छोड़ने का फैसला किया. RIL की ओर से जारी ताजी रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए मुकेश अंबानी का पारिश्रमिक (Salary) निल या शून्य था. वहीं उन्होंने 2021-22 में भी अपनी प्रमुख कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज से कोई सैलरी नहीं ली.

कोरोना की शुरुआत में छोड़ी थी सैलरी

बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना काल में औद्योगिक सेहत पर पड़े नकारात्मक प्रभाव के कारण Reliance Chief ने सैलरी न लेने का फैसला किया था. इसके साथ ही उन्होंने अपने पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए मिलने वाले सभी तरह के भत्तों, कमीशन, अनुलाभ या फिर स्टॉक विकल्पों को भी छोड़ रखा है. यानी साफ शब्दों में कहें तो उन्होंने दो सालों से कंपनी में काम के लिए मिलने वाला कोई भी लाभ नहीं लिया है. 

11 साल तक 15 करोड़ वेतन लिया

रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना की शुरुआत से पहले तक रिलायंस के चेयरमैन और एमडी (Reliance MD) का पद संभालने के लिए उन्हें 15 करोड़ रुपये सैलरी मिल रही थी. यहां बता दें अंबानी ने ये वेतन इसी आंकड़े पर सीमित कर रखा था. उन्होंने 2008-09 से लेकर 2019-20 तक 15 करोड़ रुपये ही वेतन लिया था. मुकेश अंबानी दुनिया के टॉप-10 अरबपतियों (Top-10 Billionaires) की सूची में भी शामिल हैं. 94 अरब डॉलर की नेट वर्थ के साथ वे दुनिया के 10वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं. 

नीता अंबानी को मिला इतना वेतन

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सालाना रिपोर्ट को देखें तो कंपनी के बोर्ड में नॉन-एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर रिलायंस चीफ की पत्नी नीता अंबानी (Nita Ambani) को इस साल 5 लाख रुपये सिटिंग फीस के साथ 2 करोड़ रुपये सालाना कमीशन मिला है. वहीं इससे पिछले साल नीता अंबानी को इस पद के लिए 8 लाख रुपये सिटिंग फीस और 1.65 करोड़ रुपये कमीशन में मिला था.

निदेशकों की सैलरी का लेखा-जोखा

कंपनी के पूर्णकालिक निदेशकों में शामिल निखिल और हीतल मेसवानी को 24 करोड़ रुपये मिले. इसमें 17.28 करोड़ रुपये का कमीशन शामिल था. इसके अलावा पीएमएस प्रसाद को 11.89 करोड़ रुपये सैलरी मिली, जो पिछले साल 11.99 करोड़ रुपये थी. इसके अलावा पवन कुमार कपिल के वेतन में भी मामूली गिरावट देखने को मिली है. इन्हें इस वित्त वर्ष में 4.22 करोड़ रुपये वेतन मिला, जो कि पिछले साल 4.24 करोड़ रुपये था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें