scorecardresearch
 

बेंगलुरु एयरपोर्ट में अडानी को नहीं मिलेगी हिस्सेदारी! इस कंपनी का डील से इनकार

मुंबई समेत देश के कई बड़े एयरपोर्ट्स में अडानी ग्रुप की भारी भरकम हिस्सेदारी है. ज्यादातर एयरपोर्ट्स में मैजोरिटी स्टेक अडानी ग्रुप के पास है. ऐसे में कहा जा रहा था कि फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स से मैजोरिटी हिस्सेदारी खरीदने के लिए अडानी ग्रुप तैयार था.

X
बेंगलुरु एयरपोर्ट को दुनिया का बेस्ट एयरपोर्ट बनाने का लक्ष्य!
बेंगलुरु एयरपोर्ट को दुनिया का बेस्ट एयरपोर्ट बनाने का लक्ष्य!

बीते कई दिनों से चर्चा हो रही थी कि बेंगलुरु एयरपोर्ट में मैजोरिटी हिस्सेदारी खरीदकर अडानी ग्रुप एंट्री करने के लिए तैयार है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के बाद इस तरह का दावा किया जा रहा था. लेकिन अब फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स ने इन कयासों पर विराम लगाते हुए साफ कर दिया है कि बैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (BIAL) में उसका हिस्सेदारी बेचने का कोई इरादा नहीं है.

बेंगलुरु एयरपोर्ट को दुनिया का बेस्ट एयरपोर्ट बनाने का लक्ष्य
फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स के चेयरमैन कनाडा के उद्योगपति प्रेम वाट्स हैं. इस कंपनी का हेडक्वार्टर टोरंटो में है. 11 नवंबर को बैंगलोर एयरपोर्ट के दूसरे टर्मिनल का पीएम नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के बाद कंपनी ने साफ किया है कि वो एयरपोर्ट में अपनी हिस्सेदारी नहीं बेचेगी और उसका इरादा इसे दुनिया का बेस्ट एयरपोर्ट बनाने का है.

बेंगलुरु एयरपोर्ट में फेयरफैक्स का सबसे ज्यादा निवेश
बेंगलुरु एयरपोर्ट के महत्व को लेकर फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स की योजना को इसी से समझा जा सकता है कि कंपनी ने भारत में कुल 7 अरब डॉलर का निवेश किया हुआ है. लेकिन सबसे ज्यादा रकम यानी 1 अरब डॉलर से अधिक का निवेश अकेले बेंगलुरु एयरपोर्ट में किया गया है. कंपनी का इरादा अगले 4 से 5 साल में इस निवेश को दोगुना करने का है.

बेंगलुरु एयरपोर्ट में किस किसकी हिस्सेदारी है?
बैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (BIAL) में अगर हिस्सेदारी के पैटर्न को समझें तो इसमें सबसे ज्यादा 54 फीसदी हिस्सेदारी फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स के पास है जो कनाडा की एक इंवेस्टमेंट फर्म है. इसके अलावा साइमेंस प्रोजेक्ट वेंचर्स (GmbH) के पास BIAL में 20 परसेंट हिस्सेदारी है. एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पास 13 फीसदी और कर्नाटक स्टेट इंडस्ट्रियल एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरपोरेशन के पास बाकी 13 फीसदी हिस्सेदारी है.

अडानी ग्रुप की BIAL में होगी एंट्री!
हाल ही में अडाणी ग्रुप की BIAL में एंट्री की खबर आई थी. दरअसल, मुंबई समेत देश के कई बड़े एयरपोर्ट्स में अडानी ग्रुप की भारी भरकम हिस्सेदारी है. ज्यादातर एयरपोर्ट्स में मैजोरिटी स्टेक अडानी ग्रुप के पास है. ऐसे में कहा जा रहा था कि फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स से मैजोरिटी हिस्सेदारी खरीदने के लिए अडानी ग्रुप तैयार था.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के बाद लगे कयास
ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स की भारतीय इकाई अगले साल तक BIAL का IPO ला सकती है. इसमें कहा गया था कि IPO को 30 हज़ार करोड़ के वैल्यूएशन पर लाया जाएगा और इससे 3 से 4 हज़ार करोड़ रुपये जुटाए जाएंगे.

2029 तक सालाना 9 करोड़ लोगों की क्षमता होगी
फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स की बैंगलोर एयरपोर्ट को लेकर बड़ी बड़ी योजनाएं हैं. इसकी हिस्सेदारी खरीदने के बाद से अबतक फेयरफैक्स ने बैंगलोर एयरपोर्ट पर साढ़े 12 हज़ार करोड़ निवेश किए हैं. कंपनी का इरादा इसकी क्षमता को 2029 तक बढ़ाकर 9 करोड़ यात्री सालाना करना है. इसके साथ ही इसके नजदीक 463 एकड़ में एयरपोर्ट सिटी बसाई जाएगी जिसमें ऑफिस, होटल, शॉपिंग, एंटरटेनमेंट, मेडिकल टूरिज्म और एजुकेशन से जुड़े संस्थान बनाए जाएंगे.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें