scorecardresearch
 

मोदी सरकार की टैक्स से कमाई में 74 फीसदी की शानदार बढ़त, इतने लाख करोड़ रुपये जुटे

Government Tax Collection: इस वित्त वर्ष में एक अप्रैल से 22 सितंबर के बीच नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 74.4 फीसदी बढ़ गया है. यह कोरोना से पूर्व काल यानी 2019-20 में इसी अवध‍ि में हुए नेट टैक्स कलेक्शन से भी ज्यादा है. इस दौरान सरकार ने उधारी भी अच्छी ली है.

टैक्स कलेक्शन में शानदार बढ़त (फाइल फोटो) टैक्स कलेक्शन में शानदार बढ़त (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सरकार का टैक्स कलेक्शन बढ़ा
  • कोरोना संकट से उबर रही इकोनॉमी

कोरोना संकट के बावजूद इस साल केंद्र सरकार के टैक्स कलेक्शन (Government Tax Collection) में शानदार बढ़त हुई है. इस वित्त वर्ष में एक अप्रैल से 22 सितंबर के बीच नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 74.4 फीसदी बढ़ गया है. यह कोरोना से पूर्व काल यानी 2019-20 में इसी अवध‍ि में हुए नेट टैक्स कलेक्शन से भी ज्यादा है.

वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 के एक अप्रैल से 22 सितंबर के दौरान सरकार का नेट टैक्स कलेक्शन 5.70 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इसमें कॉरपोरेट टैक्स यानी कंपनी कर 3.02 लाख करोड़ रुपये और पर्सनल इनकम टैक्स (व्यक्तिगत आयकर) 2.67 लाख करोड़ रुपये शामिल है.

वित्त वर्ष 2021-22  के एक अप्रैल से 22 सितंबर के दौरान ग्रॉस यानी सकल कर संग्रह 47 प्रतिशत बढ़कर 6.45 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा था. सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक टैक्स रिफंड के समायोजन के बाद नेट टैक्स कलेक्शन यानी शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 5,70,568 करोड़ रुपये रहा. पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में (अप्रैल-22 सितंबर) इसी अवधि में शुद्ध कर संग्रह 3.27 लाख करोड़ रुपये रहा था. 

कोरोना पूर्व काल से भी ज्यादा 

खास बात यह है कि यह कलेक्शन कोरोना से पूर्व काल यानी 2019-20 में इसी अवध‍ि में हुए नेट टैक्स कलेक्शन 4.48 लाख करोड़ से भी 27 फीसदी ज्यादा है. टैक्स कलेक्शन में बढ़ोतरी सरकार के लिए काफी राहत की बात है क्योंकि कोरोना संकट से निपट रहे देश में कल्याणकारी योजनाओं और टीकाकरण के लिए लगातार खर्च करने की जरूरत है. 

लक्ष्य के 58 फीसदी तक ले लिया उधार 

इस दौरान सरकार ने उधारी भी अच्छी ली है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक सरकार ने इसके लिए बजट में तय राश‍ि का करीब 58 फीसदी तक उधार अब तक यानी छह महीने में ले लिया है. सरकार ने बाजार में 7.02 लाख करोड़ रुपये की डेट सिक्योरिटी जारी कर पैसा जुटाया है. इस पूरे वित्त वर्ष में करीब  12.05 लाख करोड़ रुपये का उधार लेने का लक्ष्य है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें