scorecardresearch
 

TallyMoney: इस कंपनी के कर्मचरियों को अब 'सोने' में मिलेगी सैलरी, जानें क्या है कारण

ब्रिटेन में लिविंग कॉस्ट (Living Cost) तेजी से बढ़ रहा है और पाउंड अभी दो साल के निचले स्तर पर है. बैंक ऑफ इंग्लैंड (Bank Of England) पहले ही चेतावनी दे चुका है 2022 अर्थव्यवस्था के लिए मंदी वाला साल रह सकता है.

X
सैलरी के बदले मिलेगा सोना सैलरी के बदले मिलेगा सोना
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्रिटेन में कई दशकों के हाई पर महंगाई
  • तेजी से गिरी है ब्रिटिश पाउंड की वैल्यू

इन दिनों दुनिया भर के देश बेकाबू होती महंगाई (Inflation) से परेशान हैं. भारत में भी खुदरा महंगाई (Retail Inflation) अभी 8 साल के उच्च स्तर पर है. अमेरिका (US) और ब्रिटेन (UK) में तो महंगाई की दर फिलहाल कई दशकों में सबसे ज्यादा है. इसे निपटने के लिए तमाम सेंट्रल बैंक (Central Banks) तेजी से ब्याज दरें बढ़ा रहे हैं. लंदन की एक कंपनी ने अपने कर्मचारियों के ऊपर महंगाई के असर को कम करने के लिए अनोखी तैयारी की है. कंपनी अब अपने कर्मचारियों को कैश के बजाय गोल्ड में सैलरी देने जा रही है.

महंगाई से बचाता है सोना

लोकल मीडिया की खबरों के अनुसार, फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइड करने वाली कंपनी टैलीमनी (TallyMoney) अपने कर्मचरियों को अब सैलरी के बदले सोना देगी. खबरों में कंपनी के सीईओ Cameron Parry के हवाले से कहा गया है कि महंगाई से बचाव करने में सोना कारगर साबित होता है. इसी कारण कंपनी ने अपने कर्मचारियों को सैलरी में सोना देने का निर्णय लिया है. सीईओ कहते हैं, 'अभी जो दौर चल रहा है, पारंपरिक मनी लगातार अपनी क्रयशक्ति (Purchasing Power) खो रहा है. ऐसे में सोना लोगों को महंगाई से आगे रहने में मदद करता है.'

सीईओ ने दिया ये तर्क

पैरी कहते हैं कि पाउंड (Pound) जिस तरह से क्रयशक्ति खो रहा है, वह चिंताजनक है. दूसरी ओर सोने की वैल्यू इस साल लगातार बढ़ी है. उन्होंने कहा, 'जीवन-यापन करने की लागत बद से बदतर हो चुकी है. ऐसे हालात में पाउंड में पेमेंट करने का कोई मतलब नहीं बनता है, खासकर जब हर बीतते दिन के साथ इसकी वैल्यू गिर रही है. यह खुले घाव पर बैंड-ऐड लगाने जैसा है.'

इस साल आ सकती है मंदी

टैलीमनी में अभी 20 से ज्यादा लोग काम कर रहे हैं. कंपनी अपने सीनियर कर्मचरियों को गोल्ड में पेमेंट करना शुरू कर दिया है. कंपनी अब सभी कर्मचरियों के लिए यही पेमेंट सिस्टम लागू करने वाली है. सीईओ पैरी खुद भी सोने में सैलरी ले रहे हैं. हालांकि कंपनी कर्मचारियों को पाउंड में सैलरी लेते रहने का विकल्प चुनने का भी मौका देगी. आपको बता दें कि ब्रिटेन में लिविंग कॉस्ट (Living Cost) तेजी से बढ़ रहा है और पाउंड अभी दो साल के निचले स्तर पर है. बैंक ऑफ इंग्लैंड (Bank Of England) पहले ही चेतावनी दे चुका है 2022 अर्थव्यवस्था के लिए मंदी वाला साल रह सकता है.

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें