scorecardresearch
 

Kaynes Technology IPO: आखिरी दिन टूटे निवेशक, 34 गुना भरा ये आईपीओ, QIB ने जमकर लगाया पैसा

Kaynes Technology IPO : इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माण कंपनी केयन्स टेक के शेयर 22 नवंबर, 2022 को शेयर बाजार (Stock market) में लिस्ट हो सकते हैं. आईपीओ के जरिए बाजार से जुटाई गई रकम का उपयोग कंपनी का कर्ज चुकाने में किया जाएगा.

X
केयन्स टेक्नोलॉजी के शेयर 22 नवंबर को शेयर बाजार में हो सकते हैं लिस्ट
केयन्स टेक्नोलॉजी के शेयर 22 नवंबर को शेयर बाजार में हो सकते हैं लिस्ट

Kaynes Technology India Limited (KTIL) के आइपीओ को आखिरी दिन निवेशकों का जबरदस्त रिस्पांस मिला. ये आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए गुरुवार 10 नवंबर को ओपन हुआ था और सोमवार को बंद हुआ. 857.8 करोड़ रुपये के इस इश्यू को लेकर शुरुआत में इन्वेस्टर्स का रुख थोड़ा धीमा नजर आया, लेकिन लास्ट डे इसमें जोरदार उछाल आया. इस आईपीओ को 34.16 गुना सब्सक्राइब किया गया है. 

आईपीओ का रिटेल हिस्सा इतना भरा
IPO में सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बिडर (QIB) कैटेगरी में मिला. इसे 98.47 गुना सब्सक्राइब्ड किया गया. इसके बाद नॉन-इंस्टीट्यूशनल बिडर्स (NII) कैटेगरी को 21.21 गुना सब्सक्रिप्शन मिला. इस इश्यू का रिटेल पोर्शन 4.10 गुना, एंप्लाई कोटा 11.91 गुना सब्सक्राइब्ड किया गया. इससे पहले शुरुआत में इसे कम अनुदान मिल रहा था. 

एंकर निवेशकों से जुटाई इतनी रकम
Kaynes Technology के इश्यू के लिए प्राइस बैंड 559-587 रुपये प्रति शेयर निर्धारित किया गया था. आईपीओ लॉन्च करने से पहले इसे एंकर निवेशकों के लिए खोला गया था. कंपनी ने एंकर इन्वेस्टर्स से 257 करोड़ जुटाए हैं. इस इश्यू के तहत कंपनी ने 530 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयरों की पेशकश की थी. 

ग्रे-मार्केट में शानदार प्रीमियम
केयन्स टेक्नोलॉजी के शेयर ग्रे-मार्केट में भी शानदार परफारमेंस कर रहे हैं. सोमवार को ये 115 रुपये के प्रीमियम (GMP) पर उपलब्ध थे, जो इससे पिछले सत्र की तुलना में 75 रुपये से अधिक है. इस आईपीओ में ऑफर ऑफ सेल (OFS) में प्रमोटर रमेश कुन्हिकन्नन द्वारा 20.84 लाख इक्विटी शेयर और मौजूदा शेयरधारक फ्रेनी फिरोज ईरानी द्वारा 35 लाख इक्विटी शेयरों की बिक्री शामिल है.

22 नवंबर को लिस्टिंग की उम्मीद
केयन्स टेक्नोलॉजी एंड-टू-एंड और IoT समाधान-सक्षम एकीकृत इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माण कंपनी है. कंपनी के शेयर 22 नवंबर, 2022 को शेयर बाजार में लिस्ट हो सकते हैं. आईपीओ के जरिए बाजार से जुटाई गई रकम का उपयोग कंपनी का कर्ज चुकाने, मैसूर और मानेसर में अपनी विनिर्माण सुविधाओं के लिए पूंजीगत व्यय के वित्तपोषण और कार्यशील पूंजी जरूरतों के वित्तपोषण के लिए होगा. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें