scorecardresearch
 

Plastic Ban: प्लास्टिक का विकल्प, डिमांड नहीं कर पाएंगे पूरी, इस बिजनेस से हर महीने 5 लाख तक कमाई

अगर आप कार्टन का बिजेनस करना चाहते हैं, तो  इसके प्रोडक्शन से जुड़ी सभी तरह की जानकारी होनी चाहिए. आप चाहें तो इसे बिजनेस में कदम रखने सले पहले इसके बारे में पढ़ाई कर सकते हैं. कार्टन एक ऐसा प्रोडक्ट है, जिसकी मांग आने वाले समय में तेजी से बढ़ने वाली है. जितने अधिक लोग ऑनलाइन शॉपिंग करेंगे. कार्टन बॉक्स की डिमांड उतनी ही बढ़ेगी.

X
शुरू कर सकते हैं कार्टन बॉक्स का कारोबार शुरू कर सकते हैं कार्टन बॉक्स का कारोबार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कार्टन के बॉक्स की बढ़ी है डिमांड
  • पैकेजिंग के बारे में कर सकते हैं पढ़ाई

देश में एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक को सरकार ने प्रतिबंधित (Single Use Plastic Ban) कर दिया है. प्लास्टिक के थैले से लेकर चाकू तक प्रतिबंधित वस्तुओं की लिस्ट में डाल दिया गया है. सिंगल यूज प्लास्टिक के बैन होने के बाद लोग तमाम चीजों की पैकिंग (Packing) के लिए विकल्प तलाश रहे हैं. ऐसे में अगर इस समय कोई कारोबार में कदम रखना चाहता है, तो वो कार्टन का बिजनेस (Carton Business) शुरू करके मोटा मुनाफा कमा सकता है. इन दिनों वैसे भी छोटे-से-छोटे सामानों की ऑनलाइन डिलीवरी की वजह से देश में गत्ते से बने बॉक्स (कार्टन) का यूज काफी अधिक बढ़ा है.

सफलता की संभावनाएं

मोबाइल से लेकर टीवी, जूते से लेकर कांच के आइटम या फिर ग्रॉसरी की पैकिंग के लिए गत्ते से बने बॉक्स का इस्तेमाल बड़ी मात्रा में हो रहा है. सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगे बैन की वजह से इसकी मांग में और तेजी आने वाली है. इस वजह से कार्टन के कारोबार में सफलता की तमाम संभावनाएं हैं. कई कंपनियां अपने प्रोडक्ट की डिलीवरी के लिए खास तरह के कार्टन बॉक्स का इस्तेमाल करती हैं.

बिजनेस शुरू करने से पहले करें ये काम

अगर आप कार्टन का बिजेनस करना चाहते हैं, तो इसके प्रोडक्शन से जुड़ी सभी तरह की जानकारी होनी चाहिए. आप चाहें तो इसे बिजनेस में कदम रखने सले पहले इसके बारे में पढ़ाई कर सकते हैं. इसके लिए आप इंडियन इंस्टीट्युट ऑफ पैकेजिंग से कोर्स करके इस बिजनेस से जुड़ी जरूरी चीजों की जानकारी हासिल कर सकते हैं. यह इंस्टीट्युट तीन महीने से दो साल तक का कोर्स ऑफर करता है. 

कच्चे माल और मशीन की जरूरत

गत्ते का कार्टन बनाने के लिए मुख्य रूप से क्राफ्ट पेपर का इस्तेमाल किया जाता है. आप जितनी बेहतरीन क्वालिटी के क्रफ्ट पेपर का इस्तेमाल करेंगे. आपके कार्टन बॉक्स की क्वालिटी उतनी ही बेहतरीन होगी. इसके साथ ही आपको पीले स्ट्रॉबोर्ड, गोंद और सिलाई तार की जरूरत पड़ेगी. 

इस कारोबार को शुरू करने के लिए आपको सिंगल फेस पेपर कॉरगेशन मशीन, रील स्टैंड लाइट मॉडल के साथ बोर्ड कटर, शीट चिपकाने वाली मशीन, शीट प्रेसिंग मशीन,  एसेंट्रिक स्लॉट जैसी मशीनों की जरूरत पड़ेगी.

इतना आएगा खर्च

कार्टन बनाने के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको 5,500 स्क्वायर फीट जगह की जरूरत पड़ेगी. अगर आपके पास इतना स्पेस उपलब्ध है, तो आपको मशीन खर्च करने में इंवेस्ट करना होगा.  अगर आप सेमी-ऑटोमैटिक मशीन के साथ बड़े पैमाने पर यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको करीब 20 लाख रुपये खर्च करने होंगे. फुली-ऑटोमैटिक मशीन खरीदने पर आपको करीब 50 लाख रुपये निवेश करने होंगे.

कितनी होगी कमाई

अब अगर आप इतनी रकम निवेश कर रहे हैं, तो आपको मुनाफा भी तगड़ा होना चाहिए. कार्टन एक ऐसा प्रोडक्ट है, जिसकी मांग आने वाले समय में तेजी से बढ़ने वाली है. जितने अधिक लोग ऑनलाइन शॉपिंग करेंगे. कार्टन बॉक्स की डिमांड उतनी ही बढ़ेगी. इस बिजनेस में प्रॉफिट मार्जिन काफी अच्छा है. दूसरी ओर, डिमांड भी लगातार बनी रहती है. अगर आप अच्छे क्लाइंट्स के साथ एग्रीमेंट कर लेते हैं तो हर महीने आसानी से चार से छह लाख रुपये की कमाई कर सकते हैं.

मिल सकता है लोन

भारत में किसी भी तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए उपयुक्त व्यापार रजिस्ट्रेशन की जरूरत होती है. आप यह बिजनेस शुरू करने के लिए MSME रजिस्ट्रेशन या उद्योग के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. इससे आपको सरकारी मदद मिल सकती है. आपको मुद्रा योजना के तहत आसान ब्याज दर पर सरकारी बैंकों से लोन भी मिल सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें