scorecardresearch
 

मंत्री ने कहा- जॉब की फैक्ट्री हैं ये तीन सेक्टर, 2 साल में एक करोड़ नौकरियां होंगी

भारतीय सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क (STPI) के कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री Ashwini Vaishnaw ने तीनों क्षेत्रों में दिए गए रोजगारों का डाटा भी शेयर किया है. उन्होंने बताया कि अकेले IT सर्विस सेक्टर ने 55 लाख नौकरियों का आंकड़ा पार कर लिया है.

X
अश्विनी वैष्णव ने STPI के कार्यक्रम को किया संबोधित
अश्विनी वैष्णव ने STPI के कार्यक्रम को किया संबोधित

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी और दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnaw) ने आने वाले दो साल में देश में रोजगार का आंकड़ा एक करोड़ के पार ले जाने का दावा किया है. उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि सरकार ने डिजिटल अर्थव्यवस्था में इलेक्ट्रॉनिक्स (Electronics), स्टार्टअप (Startup) और आईटी (IT) सर्विसेज के लिए यह लक्ष्य तय किया है.  

सरकार का दो साल का लक्ष्य
केंद्रीय मंत्री ने ये बात बुधवार को Startup के लिए EC-STPI प्रोग्राम को संबोधित करते हुए कही. अश्विनी वैष्णव संबोधित करते हुए बताया कि इन तीनों क्षेत्रों ने लगभग 90 लाख रोजगार के मौके पैदा किए हैं. उन्होंने कहा कि अगले दो साल में रोजगार का ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंच सकता है. सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया (STPI) स्टार्टअप को मंच मुहैया कराने के लिए सुविधाएं तैयार कर रहा है.

टेक उत्पादक बन रहा भारत
अश्विनी वैष्णव ने आगे कहा कि अब भारत टेक्‍नोलाजी का उपभोक्‍ता होने के बजाय तकनीक का उत्‍पादक राष्ट्र बनता जा रहा है. उन्होंने बताया कि अब हम Mobile Phone के दूसरे सबसे बड़े निर्माता बन गए हैं. आंकड़े गिनाते हुए मंत्री ने कहा कि इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में 25-30 लाख रोजगार, IT सेवाओं के क्षेत्र में करीब 55 लाख नौकरियां और स्‍टार्ट अप सेक्‍टर ने 8 लाख नौकरियों का आंकड़ा पार कर लिया है.

देश के गांव होंगे स्टार्टअप का केंद्र
मंत्री वैष्णव ने अपने संबोधन में आगे कहा कि पहले स्टार्टअप (Startup) के लिए सिर्फ कुछ शहरों का जिक्र किया जाता था, लेकिन अब मैं गांवों के स्कूल पहुंचता हूं, तो वहां पढ़ने वाले बच्चे भी स्टार्टअप लगाने की इच्छा जाहिर करते हुए दिखाई देते हैं. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में यह बड़ा बदलाव आया है. उन्होंने कहा, भविष्य में स्टार्टअप का केंद्र गांव होंगे और अगले कुछ बड़े स्टार्टअप ग्रामीण इलाकों से निकलेंगे.  

स्टार्टअप्स को मिल रहा फंड
इस कार्यक्रम में मौजूद STPI महानिदेशक अरविंद कुमार (Arvind Kumar) का कहना है कि संगठन Startup के लिए 64 टियर दो और टियर तीन शहरों में तमाम सुविधाओं से लैस इंफ्रास्ट्रक्चर प्रदान कर रहा है. हम उत्कृष्टता के जरिए स्टार्टअप को 5-10 लाख रुपये की शुरुआती फंडिंग मुहैया कराते हैं. उन्होंने बताया कि हमारी योजना 2025 तक 300 स्टार्टअप को फंड मुहैया कराने की है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें