scorecardresearch
 

Air Traffic: कोरोना थमते ही हवा में उड़ने लगे लोग, सितंबर में 1 करोड़ यात्रियों ने किया सफर

सितंबर महीने में सबसे ज्यादा यात्रियों की मनपसंद एयरलाइन इंडियो रही. डोमेस्टिक एयर पैसेंजर ट्रैफिक में इंडिगो की बाजार हिस्सेदारी 57 फीसदी रही है. सितंबर में इंडिगो से सफर करने वाले यात्रियों की तादाद 59.72 लाख रही.

X
हवाई यात्रियों की संख्या में भारी इजाफा
हवाई यात्रियों की संख्या में भारी इजाफा

कोरोना के मामले घटने और तमाम तरह के प्रतिबंधों के हटने से अब देश में हवाई यात्रियों की तादाद ने सितंबर में जोरदार छलांग लगाई है. विमानन सुरक्षा नियामक नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के आंकड़ों के मुताबिक इस साल सितंबर में 1.03 करोड़ लोगों ने हवाई सफर किया. ये आंकड़ा सितंबर 2021 के मुकाबले 64.61 फीसदी ज्यादा है. यही नहीं बीते महीने 76.6 लाख यात्रियों ने भारतीय एयरलाइंस में सफर किया था. जबकि इसमें 7 अगस्त को शुरू हुई अकासा एयरलाइन के आंकड़े शामिल नहीं हैं.

एयरलाइंस का औसत यात्री लोड फैक्टर सितंबर में बढ़ा
DGCA के आंकड़ों के मुताबिक एयरलाइंस का औसत पैसेंजर्स लोड फैक्टर (PLF) सितंबर में बढ़कर 77.5 फीसदी पर पहुंच गया जबकि अगस्त में ये 72.5 प्रतिशत था. एयरलाइन की कुल इस्तेमाल हुई यात्री क्षमता की जानकारी पीएलएफ से मिलती है. आसान शब्दों में समझें तो अगर किसी एयरलाइन के पास 100 सीट हैं तो सितंबर में 77 से ज्यादा यात्रियों ने सफर किया था जबकि अगस्त में केवल 72 यात्री ही सफर कर रहे थे.

कायम है इंडिगो की बादशाहत
इंडिगो फिर से सबसे ज्यादा यात्रियों की मनपसंद एयरलाइन बनी रही है. डोमेस्टिक एयर पैसेंजर ट्रैफिक में इंडिगो की बाजार हिस्सेदारी 57 फीसदी रही है. सितंबर में इंडिगो से सफर करने वाले यात्रियों की तादाद 59.72 लाख रही. इंडिगो के बाद दूसरे नंबर पर विस्तारा एयरलाइन है जिससे कुल बाजार हिस्सेदारी 9.96 प्रतिशत है. सितंबर में विस्तारा से 9.96 लाख यात्रियों ने सफर किया. अगर विस्तारा के साथ ही एयर इंडिया और एयरएशिया इंडिया की संयुक्त बाजार हिस्सेदारी को मिला दिया जाए तो भी ये आंकड़ा सितंबर में 24.7 फीसदी बैठता है जो इंडिगो के आसपास भी नहीं ठहरता है.

विस्तारा ने सही समय पर उड़ान भरने में बाजी मारी
फ्लाइट्स के टाइम से टेक ऑफ करने के मामले में विस्तारा अव्वल रही है. विस्तारा की 91 फीसदी उड़ानें सही समय पर अपनी मंजिल पर पहुंचीं. विस्तारा में टाटा ग्रुप की 49 फीसदी हिस्सेदारी है जबकि एयरएशिया इंडिया में टाटा ग्रुप की 83.67 प्रतिशत हिस्सेदारी है. वहीं एयर इंडिया भी 27 जनवरी से टाटा समूह की कंपनी बन चुकी है.

जनवरी में काफी कम थी घरेलू हवाई यात्रियों की तादाद

2022 के पहले महीने जनवरी में महज 64 लाख यात्रियों ने ही घरेलू रुट्स पर हवाई सफर किया था. उस दौरान घरेलू फ्लाइट्स की संख्या 7 फीसदी घटकर 62,979 रही थी. जबकि दिसंबर 2021 में घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या 1.12 करोड़ रही थी.

दिवाली पर घरेलू टिकट विदेश से 3 गुना महंगा

जिस तरह से दिवाली पर हवाई किराए आसमान छू रहे हैं उसे देखते हुए अक्टूबर में भी घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या नया रिकॉर्ड बना सकती है. इस समय मुंबई से पटना के लिए 20 हज़ार रुपए का हवाई किराया है जबकि बैंकॉक के लिए इससे आधा यानी साढ़े 10 हज़ार रुपए ही खर्च करने होंगे. वहीं सिंगापुर के लिए 13 हज़ार और शारजाह के लिए 11 हज़ार रुपए ही खर्च करने होंगे. पटना का टिकट दिवाली और उसके 5 दिन बाद पड़ने वाले छठ पर्व की वजह से सबसे महंगा है. ट्रेन में टिकट उपलब्ध नहीं है ऐसे में लोग प्लेन से जा रहे हैं जिसका टिकट डिमांड बढ़ने की वजह से इतना महंगा हो गया है. हालांकि पटना के अलावा भी हैदराबाद, चेन्नई, बेंगलुरु, चंडीगढ़, जयपुर, अहमदाबाद, सूरत और दूसरे शहरों के लिए उड़ान भरने में भी महंगे दाम पर टिकट खरीदना पड़ रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें