scorecardresearch
 

अचानक छुट्टी पर गए Indigo के अधिकांश कर्मचारी, खुलासा- गए थे Air India में इंटरव्यू देने

इंडिगो के ज्यादातर कर्मचारी अचानक से सिक लीव पर चले गए, इस कारण एयरलाइन की करीब 55 फीसदी उड़ानें लेट हो गईं. सिविल एविएशन डेटा के अनुसार, 02 जुलाई को इंडिगो की 900 से ज्यादा उड़ानें लेट हो गईं. देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो रोजाना करीब 1600 उड़ानों का परिचालन करती हैं.

X
तेज हुई भर्ती की प्रक्रिया तेज हुई भर्ती की प्रक्रिया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टाटा के पास जाते ही सुधरने लगी एअर इंडिया
  • एअर इंडिया में तेज हुई भर्ती की प्रक्रिया

कभी सरकारी एयरलाइन रही एअर इंडिया (Air India) लेट-लतीफी और खराब सर्विस के लिए बदनाम थी. अब यह करीब 70 साल के अंतराल के बाद वापस टाटा समूह (Tata Group) के हाथों में पहुंच चुकी है और इसके बाद से कंपनी की सर्विस लगातार सुधर रही है. कंपनी के बदलते इमेज का एक प्रभाव पिछले सप्ताह एयरलाइन इंडस्ट्री (Airline Industry) में साफ देखने को मिला. एअर इंडिया में नौकरी करने की होड़ के चलते शनिवार को इंडिगो (Indigo) की आधी से ज्यादा उड़ानें लेट हो गईं.

अचानक सिक लीव पर गए स्टाफ

दरअसल इंडिगो के ज्यादातर कर्मचारी अचानक से सिक लीव पर चले गए, इस कारण एयरलाइन की करीब 55 फीसदी उड़ानें लेट हो गईं. सिविल एविएशन डेटा के अनुसार, 02 जुलाई को इंडिगो की 900 से ज्यादा उड़ानें लेट हो गईं. देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो रोजाना करीब 1600 उड़ानों का परिचालन करती हैं. आज तक की सहयोगी वेबसाइट बिजनेस टुडे को एयरलाइन सेक्टर के सूत्रों ने बताया कि अचानक आए इस व्यवधान का कारण एअर इंडिया में चल रही भर्ती है. एअर इंडिया में कई सेंटर्स पर विभिन्न पदों के लिए इंटरव्यू हो रहे हैं. इंडिगो के ज्यादातर स्टाफ एअर इंडिया का इंटरव्यू देने के लिए लीव पर गए थे.

सबसे नीचे रहा इंडिगो का ओटीपी

डाइरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन अरुण कुमार ने बिजनेस टुडे को बताया कि इंडिगो से से इस बारे में सफाई मांगी गई है. उन्होंने कहा, 'हम इस मामले को देख रहे हैं. जब हमारे पास और जानकारियां होंगी, हम तभी कुछ भी कंफर्म कर पाएंगे.' इस बारे में जब इंडिगो को सवाल भेजे गए तो उनका कोई उत्तर नहीं मिला.

शनिवार को विभिन्न एयरलाइनों की ऑन-टाइम परफॉरमेंस (OTP) की बात करें, तो एयरएशिया इंडिया के मामले में यह (Air Asia India) 98.3 फीसदी, गोफर्स्ट (Go First) के मामले में 88 फीसदी, विस्तार (Vistara) के मामले में 86.3 फीसदी, स्पाइसजेट (Spice Jet) 80.4 फीसदी और एअर इंडिया (Air India) 77.1 फीसदी रहा था. इसमें सबसे नीचे इंडिगो थी, जिसका ऑनटाइम परफॉरमेंस 45.2 फीसदी रहा था.

एअर इंडिया का सुधरने लगा हाल

आपको बता दें कि करीब 69 साल सरकार के नियंत्रण में रहने के बाद एअर इंडिया वापस टाटा के पास चली गई है. हाल ही में सिंगापुर एयरलाइंस की किफायती विमानन सेवा इकाई स्कूट के पूर्व सीईओ कैम्पबेल विल्सन को एअर इंडिया ने हायर किया है. उनकी नियुक्ति के बाद से एअर इंडिया में भर्ती की प्रक्रिया तेज हो गई है. दूसरी ओर भारत की सबसे सफल विमानन कंपनियों में से एक इंडिगो को हालिया समय में कर्मचारियों की नाराजगी का सामना करना पड़ा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें