scorecardresearch
 

Petrol to Electric Bike: पेट्रोल की 2-व्हीलर गाड़ियों को बनाएं इलेक्ट्रिक, बस खर्च होंगे इतने रुपये!

अगर आप भी पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान हैं, तो आप अपनी पेट्रोल वाली मोटरसाइकिल या स्कूटर में इलेक्ट्रिक किट को रेट्रोफिट करवा सकते हैं. इससे आपका पेट्रोल पर होने वाला मासिक खर्च करीब आधा हो जाएगा और 2-व्हीलर में इलेक्ट्रिक किट लगवाने का खर्च भी बहुत ज्यादा नहीं है...

पेट्रोल 2-व्हीलर गाड़ी को बनाएं इलेक्ट्रिक (सांकेतिक फोटो) पेट्रोल 2-व्हीलर गाड़ी को बनाएं इलेक्ट्रिक (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कई स्टार्टअप करते हैं इलेक्ट्रिक किट की रेट्रोफिट
  • सरकारी मान्यता प्राप्त किट लगवाना सही
  • बचें गूगल सर्च पर मिलने वाली EV किट से

अगर आप भी पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान हैं, तो आप अपनी पेट्रोल वाली मोटरसाइकिल या स्कूटर में इलेक्ट्रिक किट को रेट्रोफिट करवा सकते हैं. इससे आपका पेट्रोल पर होने वाला मासिक खर्च करीब आधा हो जाएगा और 2-व्हीलर में इलेक्ट्रिक किट लगवाने का खर्च भी बहुत ज्यादा नहीं है...

स्टार्टअप से करवाइए इलेक्ट्रिक किट रेट्रोफिट

अगर आपके पास Hero Splendor जैसी कोई मोटरसाइकिल है, या आप Honda Activa टाइप का कोई स्कूटर चलाते हैं, तो आप इन 2-व्हीलर गाड़ियों को इलेक्ट्रिक गाड़ी में कन्वर्ट कर सकते हैं.

मौजूदा समय में देश के अलग-अलग हिस्सों में कई स्टार्टअप हैं जो 2-व्हीलर्स में इलेक्ट्रिक किट रेट्रोफिटिंग का काम करते हैं. इस मामले में Zuink, GoGoA1 और Bounce जैसी कंपनियों का नाम काफी चर्चित है. ये आपकी मोटरसाइकिल के इंजन और गियर बॉक्स में बदलाव करके आपकी गाड़ी में इलेक्ट्रिक मोटर लगा देते हैं  और आप पेट्रोल खर्च पर बचत शुरू कर सकते हैं.

गूगल सर्च वाली किट में कानूनी झमेला

अगर आप सामान्य गूगल सर्च करेंगे तो आपको 10,000 रुपये से कम की कीमत में भी इलेक्ट्रिक मोटर किट मिल जाएंगी. लेकिन इनके साथ थोड़ा रिस्क है कि ये किट सरकार से मान्यता प्राप्त नहीं है, ऐसे में जब कभी आपके बाइक या स्कूटर की जांच होगी तो आप कानूनी पचड़े में पड़ सकते हैं, क्योंकि मोटर व्हीकल एक्ट की धारा-52 के मुताबिक अगर आप अपनी गाड़ी के रजिस्ट्रेशन से अलग कोई रेट्रोफिटिंग या मौलिक बदलाव करते हैं तो ये कानून के तहत मान्य होना चाहिए. इसलिए आपको RTO अप्रूव्ड इलेक्ट्रिक किट ही लगवाना चाहिए.

इलेक्ट्रिक किट लगवाने का आता है इतना खर्च

आम तौर पर किसी पेट्रोल स्कूटर को इलेक्ट्रिक बनाने का खर्च मोटरसाइकिल की तुलना में कम बैठता है. इसकी वजह स्कूटर में अच्छा खासा बूट स्पेस होना है. इससे कन्वर्जन की कॉस्ट कम हो जाती है.आम तौर पर RTO अप्रूव रेट्रोफिट इलेक्ट्रिक मोटर किट की कॉस्ट 15 से 20 हजार रुपये के बीच शुरू हो जाती है. लेकिन आपको बैटरी की लागत अलग से देनी हाेती है जो रेंज और पॉवर पर डिपेंड करती है. लेकिन ये एक बार लगने वाली लागत है और अधिकतर बैटरी 3 साल की वारंटी के साथ आती हैं, तो आपकी पेट्रोल पर होने वाली बचत ही इसकी रकम को पूरा कर देती है.

वहीं कुछ कंपनी स्वैपेबल बैटरी और किराये पर बैटरी का ऑप्शन देती हैं. जैसे Zuink की किट स्वैपेबल बैटरी के साथ आती है. कंपनी अभी बेंगलुरू में ही अपनी सर्विस देती है. इसकी किट को 27,000 रुपये में लगवाया जा सकता है और इसे आप 899 रुपये महीने की किस्त पर भी ले सकते हैं. वहीं GoGoA1 की इलेक्ट्रिक किट को 35,000 रुपये में लगवाया जा सकता है. ये आपकी स्प्लेंडर बाइक को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कर सकती है. हालांकि इसमें बैटरी की कॉस्ट और जीएसटी अलग से देना होता है. लेकिन कंपनी का दावा है कि उसकी किट सिंगल चार्ज में 151 किमी तक गाड़ी दौड़ा सकती है. 

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×