ह्यूस्टन में क्यों बोले PM मोदी- धैर्य भारतीयों की पहचान, लेकिन अब हम हैं अधीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ह्यूस्टन में 50 हजार भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि धैर्य हम भारतीयों की पहचान रही है, लेकिन अब हम अधीर हैं. पीएम ने कहा कि ये अधीरता देश के विकास के लिए है, 21 वीं सदी में देश को नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए है.

ह्यूस्टन में पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप (फोटो-twitter/PBNS_India)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 23 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 10:44 AM IST

  • भारत आज विकास के लिए अधीर है- पीएम मोदी
  • आज भारत का सबसे बड़ा संकल्प है न्यू इंडिया- पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ह्यूस्टन में 50 हजार भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि धैर्य हम भारतीयों की पहचान रही है, लेकिन अब हम अधीर हैं. पीएम ने कहा कि ये अधीरता देश के विकास के लिए है, 21 वीं सदी में देश को नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने विकास के एजेंडे को विस्तार से समझाते हुए कहा कि आज भारत का सबसे चर्चित शब्द है विकास. पीएम ने कहा, "आज भारत का सबसे चर्चित शब्द है विकास, भारत का सबसे चर्चित मंत्र है सबका साथ-सबका विकास. आज भारत की सबसे बड़ी नीति जन भागीदारी है, आज भारत का सबसे प्रचलित नारा है संकल्प से सिद्धि, आज भारत का सबसे बड़ा संकल्प है न्यू इंडिया."

पीएम मोदी ने 50 हजार अमेरिकी-भारतीयों की जोशीली भीड़ को संबोधित करते हुए कहा कि आज भारत न्यू इंडिया के सपने को साकार करने के लिए दिन रात लगा हुआ है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत अब उस दौर में पहुंच गया है जहां भारत का मुकाबला किसी और से नहीं बल्कि खुद से हैं. नरेंद्र मोदी ने कहा, "हम खुद को चैलेंज कर रहे हैं, हम खुद को बदल रहे हैं." उन्होंने भारत की आकांक्षाओं को जाहिर करते हुए कहा कि आज भारत पहले से तेज गति से आगे बढ़ना चाहता है.

अपने आलोचकों पर तंज कसते हुए पीएम ने कहा कि भारत आज उन्हें चैलेंज कर रहा है जिनकी सोच है कि कुछ बदल ही नहीं सकता है. बीते 5 सालों में 130 करोड़ भारतीयों ने ऐसे कामों को अंजाम दिया है जिसकी पहले कल्पना भी नहीं की जा सकती थी.

Read more!

RECOMMENDED