कनाडा में 'सिंह बनाएगा किंग', जगमीत सिंह के हाथ में आई सत्ता की चाबी

जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को बहुमत के आंकड़े के लिए 13 सीटों की जरूरत है. इस बीच कनाडा में सिख नेता जगमीत सिंह एक किंगमेकर की तरह बनकर उभरे हैं और उनकी पार्टी को इतनी सीटें मिली हैं कि सरकार बनाने की स्थिति में हैं.

जगमीत सिंह बने कनाडा में किंगमेकर!
aajtak.in
  • ओटावा,
  • 23 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 9:52 AM IST

  • कनाडा में फिर सरकार बनाने के करीब जस्टिन ट्रूडो
  • सिख मूल के जगमीत सिंह बन सकते हैं किंग मेकर
  • जगमीत सिंह की पार्टी को मिली हैं 24 सीटें

कनाडा में 21 अक्टूबर को हुए आम चुनाव के नतीजे आ गए हैं और मौजूदा प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो एक बार फिर सत्ता पर विराजमान होने के करीब हैं. नतीजों के अनुसार वह बहुमत के करीब हैं यानी कि वह अल्पमत सरकार बना सकते हैं. जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को बहुमत के आंकड़े के लिए 13 सीटों की जरूरत है. इस बीच कनाडा में सिख नेता जगमीत सिंह एक किंगमेकर की तरह बनकर उभरे हैं और उनकी पार्टी को इतनी सीटें मिली हैं कि सरकार बनवाने की स्थिति में हैं.

मंगलवार को कनाडा आम चुनाव के आंकड़ों के अनुसार, जस्टिन ट्रूडो की लिबरल पार्टी को 157 सीटें मिली हैं. जबकि बहुमत के आंकड़े के लिए कुल 170 सीटों की जरूरत है. वहीं, जगमीत सिंह की पार्टी न्यू डेमोक्रेट्स को कुल 24 सीटें मिली हैं. ऐसे में वह अगर जस्टिन ट्रूडो की पार्टी का समर्थन करते हैं, तो उनकी राह आसान हो जाएगी.

कनाडा आम चुनाव के नतीजे: कुल सीटें 338

लिबरल पार्टी (जस्टिन ट्रूडो): 157

न्यू डेमोक्रेट्स (जगमीत सिंह): 24

कंजरवेटिव पार्टी: 121

ब्लॉक क्यूबेकॉइस: 21

ग्रीन पार्टी: 3

निर्दलीय: 1

इन नतीजों के सामने आने के बाद ग्रीन पार्टी, निर्दलीय और ब्लॉक क्यूबेकॉइस पार्टी के प्रमुख नेताओं ने लिबरल पार्टी को समर्थन करने से इनकार कर दिया है. अब ऐसे में सत्ता की चाबी पूरी तरह से न्यू डेमोक्रेट्स यानी जगमीत सिंह के हाथ में आ गई है, अगर वह जस्टिन ट्रूडो के साथ आते हैं तो उनकी सरकार स्थिर हो सकती है.

कौन हैं जगमीत सिंह?

पेशे से क्रिमिनल वकील जगमीत सिंह इस बार कनाडा की सत्ता में किंगमेकर बनकर उभरे हैं. उन्होंने साल 2011 से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की और पहला ही चुनाव हार गए. 2015 में उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया और 2017 में पार्टी की कमान दे दी गई. वह कई बार प्रो-खालिस्तानी रैलियों में शामिल हो चुके हैं , जिसकी वजह से भारत में उनका काफी विरोध भी हुआ है. 2015 के चुनाव में उनकी पार्टी को कुल 44 सीटें मिली थीं, इस बार हालांकि उनकी सीटों में काफी कमी आई है.

कनाडा की सत्ता में एक बार फिर आने पर जस्टिन ट्रूडो को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बधाई दी है. इसके अलावा दुनिया के कई बड़े नेता जस्टिन ट्रूडो को बधाई दे रहे हैं.

Read more!

RECOMMENDED