ट्रेंडिंग

गोवा की गायें खा रही हैं मछली और चिकन, सरकार कराएगी इलाज

  • 1/6

अभी तक आपने यही सुना या स्कूल में पढ़ा होगा कि गाय एक शाकाहारी जानवर है. आप अपने जीवन में यही मानते भी होंगे और गायों को हमेशा शाकाहारी भोजन ही कराते होंगे. लेकिन हाल ही में गायों की खाने की आदत को लेकर किए गए एक जांच में जो तथ्य सामने आए हैं वो जानकार आप हैरान रह जाएंगे. गायों को अब मांसाहारी खाना भी पसंद आने लगा है और वो मछली और चिकन भी खा भी रही हैं. (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं)

  • 2/6

दरअसल गोवा में 76 आवारा गायों के झुंड के अध्ययन से यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि इंसानों की तरह गाय भी भोजन की उपलब्धता के अनुसार अपने खाने की आदतों में बदलाव करती हैं. इस तरह की अनुकूलनशीलता इंसान और मनुष्यों को अपना जीवन बचाए रखने और विकास करने के लिए हमेशा से बेहद अहम रहा है.

  • 3/6

जिन गायों में उनके भोजन को लेकर आए बदलावों का खुलासा हुआ है ये सभी आवारा पशु थीं और उन्हें गोवा के एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल कैलंगुट से पुनर्वास के लिए ले जाया गया था. गोवा के मंत्री माइकल लोबो ने कहा कि मांसाहारी भोजन की आसान उपलब्धता के कारण ज्यादातर रेस्तरां, चिकन स्क्रैप, बासी तली हुई मछली और अन्य जानवरों का मांस आसानी से मिल जाता है जिस वजह से इन आवारा गायों ने खाने की नई आदत को विकसित कर लिया.

  • 4/6

इतनी ही नहीं जब इन आवारा गायों को गोवा में एक मान्यता प्राप्त गौशाला में रखा गया तो उन्होंने अन्य गायों को दिए गए सामान्य आहार को खाने से मना कर दिया. बाद में, गौशाला के प्रबंधकों ने पाया कि ये गाय मांस प्रेमी थीं.

  • 5/6

एक बार फिर गोवा की सरकार ने गायों को शाकाहारी बनाने के लिए विशेषज्ञों की मदद ली. यह पता लगाने के लिए कि गाय क्या खा रही है उन्होंने रात में पहरा देने का फैसला किया. पहरे के दौरान लोगों ने बछड़ों को जीवित मुर्गियों को खाते हुए  पकड़ा. ऐसे में सरकार अब इन गायों का इलाज कराएगी.

  • 6/6

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में पशु चिकित्सा अधिकारी के हवाले से कहा गया था कि गायों के शरीर में महत्वपूर्ण खनिजों की कमी पशु के खाने के व्यवहार में इस बदलाव का कारण बन रही है गायों ने बदले हुए खाद्य वातावरण का पालन किया. ऐसा भी कहा जा रहा है कि गाय पूरी तरह शाकाहारी नहीं होती क्योंकि जब वो घास चरती हैं तो  घास के साथ कीड़े भी खाती हैं.

लेटेस्ट फोटो