Galaxy S10 का फिंगरप्रिंट सिक्योर नहीं, कोई भी खोल सकता है लॉक

Samsung के 60 हजार से ऊपर के स्मार्टफोन Galaxy S10 का फिंगरप्रिंट स्कैनर सिक्योर नहीं है और इसे कोई भी अनलॉक कर सकता है. कंपनी जारी करेगी पैच. 

Samsung Galaxy S10
मुन्ज़िर अहमद
  • नई दिल्ली,
  • 18 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 12:13 PM IST

Samsung के फ्लैगशिप स्मार्टफोन Galaxy S10 का अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर सिक्योर नहीं है. ये बेहद चौंकाने वाला मामला है और ये कंपनी के बायोमैट्रिक ऑथेन्टिकेशन को लेकर गंभीर सावल खड़े करता है. Galaxy S10 की कीमत भारत में 60 हजार से ऊपर है और ऐसे में फिंगरप्रिंट स्कैनर तक सिक्योर नहीं है.

गौरतलब है कि Galaxy S10 के साथ Galaxy S10 Plus और Note 10 में एक ही इन डिस्प्ले अल्ट्रासोनिक फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया गया है. यानी मुमकिन है इनके भी फिंगरप्रिंट स्कैनर सिक्योर नहीं है.

Galaxy S10 के अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर को कोई भी एक सस्ते सिलिकॉन केस की मदद से आसानी से खोल सकता है. इसके लिए आपको टेक एक्स्पर्ट या हैकिंग की नॉलेज होने की जरूरत नहीं है. सस्ते सिलिकॉन केस के जरिए कोई शख्श आपके Galaxy S10 के फिंगरप्रिंट स्कैनर को अपने फिंगरप्रिंट से अनलॉक कर सकता है.

The Sun की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक ब्रिटिश कपल ने कहा है कि Galaxy S10 में एक सस्ता सिलिकॉन केस लगाने के बाद फिंगरप्रिंट स्कैनर को बाइपास कर लिया गया. ब्रिटिश महिला ने कहा है कि उनके हसबेंड भी Galaxy S10 अपने फिंगरप्रिंट से अनलॉक कर पा रहे हैं, जबकि उनका फिंगरप्रिंट फोन में रजिस्टर नहीं किया गया था.

ये सिलिकॉन केस फ्रंट और बैक दोनों के लिए है. सैमसंग ने कहा है कि इस मामले की जानकारी है और कंपनी जल्द ही इसका फिक्स जारी करेगी.

सैमसंग ने कहा है कि कंपनी को Galaxy S10 के फिंगरप्रिंट स्कैनर में खराबी की जानकारी है और इसे ठीक करन के लिए कंपनी जल्द ही सॉफ्टवेयर पैच जारी करेगी. जिस कपल ने फिंगरप्रिंट स्कैनर में खामी का पता लगाया है उन्होंने कहा है कि ये काफी गंभीर है.

हालांकि ये पहला मामला नहीं है जब सैमसंग के अल्ट्रासोनिक फिंगरप्रिंट स्कैनर में दिक्कत मिली है. अप्रैल में भी 3D प्रिंटेड फिंगरप्रिंट के जरिए इसे ओपन किया जा चुका है.

कंपनी इसे हमेशा से काफी सिक्योर फिंगरप्रिंट स्कैनर बताती है, लेकिन इस मामले के बाद साफ हो चुका है कि सिक्योरिटी के नाम पर एक तरह से लोगों को धोखे में रखा जाता है.

Read more!

RECOMMENDED