सुनील गावस्कर बोले- वीरेंद्र सहवाग की तरह सफल हो सकते हैं रोहित शर्मा, करना होगा ये काम

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली जाने वाली तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम में इस बार रोहित शर्मा को ओपनर के तौर पर शामिल किया गया है.

Rohit Sharma
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 20 सितंबर 2019,
  • अपडेटेड 7:12 PM IST

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली जाने वाली तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम में इस बार रोहित शर्मा को ओपनर के तौर पर शामिल किया गया है. केएल राहुल की जगह अब रोहित शर्मा मयंक अग्रवाल के साथ टेस्ट मैचों में ओपनिंग करने उतर सकते हैं. साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 2 अक्टूबर से खेली जाएगी. पहला टेस्ट विशाखापत्तनम में खेला जाएगा.

टेस्ट क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग की तरह सफलता हासिल करने के लिए पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने रोहित शर्मा को खेल के सबसे लंबे फॉर्मेट में अपना रवैया बदलने की सलाह दी है. सुनील गावस्कर ने कहा, 'सफेद गेंद और लाल गेंद की क्रिकेट में काफी अंतर होता है. सफेद गेंद पांच ओवरों में ही स्विंग करना बंद कर देती है. लाल गेंद के चमड़े में जिस तरह के टांके होते हैं आप इसे 35 से 40 ओवर के बाद भी स्विंग करता देख सकते हैं. इसलिए स्विंग का सामना करना अलग बात है और रोहित अंदर आने वाली गेंद के खिलाफ थोड़ा संघर्ष करते हैं.'

सुनील गावस्कर ने कहा, 'यदि रोहित शर्मा का शॉट सेलेक्शन अच्छा है, तो वह टेस्ट क्रिकेट में भी रन बना पाएंगे. रोहित को सहवाग की तरह टेस्ट क्रिकेट में सफल होने की उम्मीद को मजबूत करने की जरूरत होगी. जब हम रोहित शर्मा के बारे में बात करते हैं, तो उनके पास वीरेंद्र सहवाग की तरह वाटर टाइट डिफेंस नहीं है.'

गावस्कर ने कहा, 'लेकिन रोहित शर्मा के पास शायद सहवाग से ज्यादा शॉट हैं. सहवाग ने गेंद को इतनी ज्यादा बार ऑन साइड की तरफ नहीं मारा होगा. रोहित पुल और हुक शॉट का बखूबी इस्तेमाल करते हैं. रोहित के पास ज्यादा अटैकिंग शॉट हैं. अगर रोहित अच्छी गेंदों के खिलाफ अपना डिफेंस मजबूत कर सकते हैं, तो वह टेस्ट क्रिकेट में भी सहवाग की तरह सफल हो सकते हैं.'

गावस्कर ने कहा, 'रोहित अगर रबाडा जैसे गेंदबाज अच्छी तरह सामना करते हैं तो वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ आने वाली टेस्ट सीरीज में लंबी पारियां खेल सकते हैं.' गावस्कर ने कहा, 'जिस तरह से हनुमा विहारी ने मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी की है, उससे रोहित शर्मा का मिडिल ऑर्डर में वापसी करना मुश्किल लग रहा है, तो उनके पास ओपनिंग में खुद को साबित करने का अच्छा मौका है.'

गावस्कर ने कहा, 'हम एक-दो टेस्ट मैचों के बाद जान पाएंगे. विशाखापत्तनम और पुणे में अच्छे विकेट हैं. अगर रोहित इन पिचों पर एक अच्छी पारी खेल सकते हैं, तो वह अगले दो या तीन सालों में अच्छी शुरुआत कर सकते हैं.'

Read more!

RECOMMENDED