वर्ल्ड कप छीनने वाले इंग्लैंड के बेन स्टोक्स 'न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर' की रेस में

14 जुलाई को लॉर्ड्स में स्टोक्स की शानदार पारी (नाबाद 84 रन) की बदौलत इंग्लैंड की टीम ने फाइनल मुकाबला टाई कराया. इसके बाद सुपर ओवर भी टाई रहा. आखिरकार मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर इंग्लैंड की टीम को विजेता घोषित किया गया.

बेन स्टोक्स (रॉयटर्स)
aajtak.in
  • वेलिंगटन,
  • 19 जुलाई 2019,
  • अपडेटेड 1:30 PM IST

वर्ल्ड कप के फाइनल में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड पर जीत दिलाने में बेहतरीन योगदान देने वाले ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को 'न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर' के लिए नामित किया गया है. यानी न्यूजीलैंड से वर्ल्ड कप छीनने वाले इंग्लैंड के स्टोक्स इस प्रतिष्ठित सम्मान की रेस में हैं. न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन भी इस अवॉर्ड के लिए नामित किए गए हैं.

14 जुलाई को लॉर्ड्स में स्टोक्स की शानदार पारी (नाबाद 84 रन) की बदौलत इंग्लैंड की टीम ने फाइनल मुकाबला टाई कराया. इसके बाद सुपर ओवर भी टाई रहा. आखिरकार मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर इंग्लैंड की टीम को विजेता घोषित किया गया.

न्यूजीलैंड में पैदा हुए स्टोक्स महज 12 साल की उम्र में अपने परिवार के साथ इंग्लैंड चले गए थे. न्यूजीलैंड के लिए रग्बी लीग खेल चुके उनके पिता गेरार्ड तब इंग्लैंड में कोचिंग दे रहे थे. इसके बाद से ही स्टोक्स इंग्लैंड में रह रहे हैं, हालांकि उनके पैरेंट्स गेरार्ड और डेब क्राइस्टचर्च लौट गए थे.

न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर अवॉर्ड के चीफ जज कैमरन बैनेट ने कहा, 'स्टोक्स भले ही ब्लैक कैप्स के लिए नहीं खेल रहे हों, लेकिन वह क्राइस्टचर्च में पैदा हुए हैं, जहां अब उनके माता-पिता रहते हैं.' कैमरन ने कहा कि जिस तरह से विलियमसन ने फाइनल और पूरे विश्व कप में विनाशकारी निराशा के बीच खुद को खड़ा रखा, वह कीवियों के साथ गूंजता रहा.

उल्लेखनीय है कि न्यूजीलैंड में जन्मे स्टोक्स को कीवी टीम के कप्तान केन विलियमसन, न्यूजटॉक जेडबी होस्ट साइमन बार्नेट, पूर्व लीग स्टार मनु वेतुवेई और क्राइस्टचर्च मस्जिद पर हुए हमलों के बाद हीरो बनकर उभरे अब्दुल अजीज के साथ इस अवॉर्ड के लिए नामित किया गया है.

इससे पहले इंग्लैंड में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट ने कहा था कि स्टोक्स को शानदार प्रदर्शन के लिए नाइटहुड (सर की उपाधि) मिल सकती है.

Read more!

RECOMMENDED