नवरात्रि 2019: जान लें असली देवी भक्त की ये होती है पहचान

नवरात्रि के दौरान माता के भक्त मां को प्रसन्न करने के लिए पूरे नौ दिनों का उपवास करते हैं. लहसुन, प्याज छोड़ने से लेकर मां को किस दिन किस चीज का भोग लगाना है इस बात का भी खासा ध्यान रखा जाता है. बावजूद इसके आपकी भक्ति तब बेअसर हो जाती है, जब जाने अनजाने आप ये 5 गलतियां कर बैठते हैं. बता दें, मां सिर्फ अपने उन भक्तों पर कृपा करती हैं जो न सिर्फ नवरात्रि के नौ दिन बल्कि जीवनभर ये 5 काम करने से बचते हैं. आइए जानते हैं आखिर कौन से हैं वो 5 काम.

प्रतीकात्मक फोटो
aajtak.in/मंजू ममगाईं
  • ,
  • 11 अप्रैल 2019,
  • अपडेटेड 7:31 AM IST

नवरात्रि के दौरान माता के भक्त मां को प्रसन्न करने के लिए पूरे नौ दिनों का उपवास करते हैं. लहसुन, प्याज छोड़ने से लेकर मां को किस दिन किस चीज का भोग लगाना है इस बात का भी खासा ध्यान रखा जाता है. बावजूद इसके आपकी भक्ति तब बेअसर हो जाती है, जब जाने अनजाने आप ये 5 गलतियां कर बैठते हैं. बता दें, मां सिर्फ अपने उन भक्तों पर कृपा करती हैं जो न सिर्फ नवरात्रि के नौ दिन बल्कि जीवनभर ये 5 काम करने से बचते हैं. आइए जानते हैं आखिर कौन से हैं वो 5 काम.

झूठ न बोलें-

नवरात्रि के दौरान लोग अक्सर झूठ बोलने से परहेज करते हैं. लेकिन मां अपने उन भक्तों पर हमेशा कृपा बनाए रखती हैं जो सिर्फ नवरात्रि ही नहीं बल्कि बाकी दिन भी सच का दामन थामे रखते हैं. इसके अलावा अगर आप अपने किसी मित्र से झूठ बोलते हैं और यह बात उसे बाद में पता चल जाती है तो उसका आपके ऊपर से भरोसा उठ जाएगा.  

दिल न दुखाएं-

हिंदू धर्म में कहा जाता है कि आपके ऐसे तीर्थ और व्रत का कोई मतलब नहीं होता जो किसी का दिल दुखाकर किया गया हो. तो इस नवरात्रि संकल्प लें कि आप कभी भी किसी का दिल नहीं दुखाएंगे.

धोखा न देना-

दिल के सच्चे और साफ व्यक्ति पर मां अपनी कृपा हमेशा बनाए रखती है.धोखेबाज व्यक्ति पर न तो लोग भरोसा करते हैं और न ही उन पर कोई देवी कृपा होती है.

महिलाओं का सम्मान-

अगर आप देवी की कृपा पाना चाहते हैं तो हमेशा महिलाओं का सम्मान करें. उनकी छोटी-छोटी बातों पर कमियां निकालने की जगह प्यार से हर चीज का हल निकालें. खाने में नमक ज्यादा या कम, कपड़ों को लेकर तंज या फिर टीवी देखने को लेकर बात का बतंगड न बनाएं.   

बुर्जुगों का सम्मान-

कहा जाता है कि जहां भगवान नहीं होते वहां आपके साथ आपके बड़े बुर्जुगों का आशीष आपके साथ रहता है. आप उनके आर्शीवाद से कठिन से कठिन काम भी कर करते हैं. ऐसे में अगर आप उनका सम्मान नहीं कर रहे हैं तो आपके ऊपर ईश्वर की कृपा कभी नहीं हो सकती.

Read more!

RECOMMENDED