6 ऐसे अजीबोगरीब फेशियल जिन्हें कराना तो दूर, सोचकर भी डर जाएंगे आप

आपने कई तरह के फेशि‍यल के बारे में सुना होगा लेकिन फेशि‍यल के ये कुछ ऐसे तरीके हैं जिन पर आप शायद ही यकीन कर पाएं.

अजीबोगरीब फेशि‍यल
भूमिका राय
  • नई दिल्ली,
  • 16 जनवरी 2016,
  • अपडेटेड 1:19 PM IST

अगर फेशियल कराते होंगे तो फ्रूट फेशियल, गोल्ड फेशियल, चॉकलेट फेशियल, पर्ल फेशियल जैसे तमाम नाम आपने सुने होंगे और कराएं भी होंगे. लेकिन क्या आप जानते हैं फेशि‍यल के ऐसे भी विकल्प मौजूद हैं जिनके बारे में आपने सुना भी नहीं होगा.

निखरी और दमकती त्वचा सभी की चाहत होती है और इसके लिए एक से एक फेशियल मौजूद हैं. लेकिन कुछ फेशियल ऐसे भी हैं जिन्हें कराना सभी के बस की बात नहीं है क्योंकि ये बेहद असमान्य हैं.  

जानिए 6 ऐसे ही फेशियल के बारे में जिनके लिए खूबसूरती निखारने का दावा तो किया जाता है लेकिन करवा पाना सभी के बस की बात नहीं है:

मछली के अंडे से कई विशेषज्ञ मानते हैं कि मछली के अंडे से फेशियल करने पर बोटोक्स जैसा परिणाम पाया जा सकता है. ये यूवी किरणों के प्रभाव को कम करने में मददगार होते हैं. ये विटामिन ए, बी और डी से भरपूर होते हैं और इनके प्रयोग से झुर्रियां होने की आशंका लगभग खत्म हो जाती है.

मधुमक्खी के जहर से इस फेशियल ट्रीटमेंट को भी बोटोक्स के विकल्प के तौर पर देखा जाता है. इसमें मधुमक्खी के डंक को क्रीम के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाया जाता है. मधुमक्खी के डंक में मेलिटिन पाया जाता है जिसकी वजह से जब वह डंक मारती है तो दर्द होता है. विक्टोरिया बेकहम और केट मिडिल्टन जैसी हस्त‍ियां इस फेशियल की दीवानी हैं.

गर्भनाल से कुछ सि‍लेब्रिटीज खूबसूरती बढ़ाने के लिए गर्भनाल खाते हैं लेकिन वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो इसे लेप के रूप में इस्तेमाल करते हैं. कई फेस क्रीम में भी इसे मिलाया जाता है. यह पोषक तत्वों और बायो-स्टि‍म्युलेंट से भरपूर होता है.

चिड़ि‍या की बीट से अगर आपको भी गोरी त्वचा पाने का जुनून है तो चिड़ि‍या की बीट का फेशियल आपकी यह मुराद पूरी कर सकता है. जापान में सदियों से लोग ऐसा करते आ रहे हैं. हालांकि इसमें नाइटेंगल बर्ड की बीट का ही इस्तेमाल करना कारगर माना जाता है.

सांप के जहर से इसे भी बोटोक्स जैसा परिणाम देने वाला माना जाता है. सांप के जहर को क्रीम में मिलाकर फेशियल किया जाता है. इससे त्वचा लंबे समय तक जवां और निखरी रहती है.

ब्लड फेशियल अगर गर्भनाल का इस्तेमाल फेशियल के लिए किया जा सकता है तो खून का क्यों नहीं. दुनिया के कई हिस्सों में लोग अपने ही खून से अपना फेशियल कराते हैं. इसे वैंपायर फेशियल के नाम से भी जाना जाता है.

Read more!

RECOMMENDED