दिल्ली-यूपी में खून चूस रहा डेंगू, जानें क्या है इससे बचने के सही तरीके

दिल्ली में अब तक डेंगू के 350 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पिछले साल राजधानी में 650 मामले दर्ज हुए थे.

प्रतीकात्मक तस्वीर
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 13 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 12:18 PM IST

दिल्ली-एनसीआर समेत बिहार और उत्तर प्रदेश में डेंगू एक बार फिर पांव पसार रहा है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रमुख सचिव खादी उद्योग नवनीत सहगल भी डेंगू के शिकार हो गए हैं. मेडिकल जांच के बाद उन्हें केजीएमयू में भर्ती कराया गया है.

वहीं, पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी में मंगलवार देर रात 22 साल की पूजा सिंह की भी डेंगू के चलते मौत हो गई. पूजा के परिजनों ने बुखार चढ़ने के बाद उसे मयूर विहार स्थित जीवन अनमोल अस्पताल में भर्ती करवाया था. मेडिकल जांच में डेंगू की पुष्टि हुई और दो दिन के भीतर ही उसकी मौत हो गई.

दिल्ली में अब तक डेंगू के 350 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पिछले साल राजधानी में 650 मामले दर्ज हुए थे. दिल्ली सरकार के मुताबिक 2015 में दिल्ली में अक्टूबर के पहले सप्ताह तक डेंगू के 7,606 मामले थे, जबकि 2016 और 2017 में यह संख्या क्रमशः 2133 और 2152 थी.

2015 में 15,867 मामले सामने आए थे और 60 से ज्यादा मौतें हुई थी. 2018 में मामले घटकर केवल 2,798 हो गए जिनमें से चार की मौत हुई. वहीं, बिहार में डेंगू के अब तक 900 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. यहां अकेले पटना में ही 640 मामले दर्ज किए गए हैं.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में डेंगू के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन ने एडवाइजरी जारी कर दी है. इंटरमीडिएट तक सभी स्कूल और कॉलेजों को इन गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करना होगा.

- बच्चों को अनिवार्य रूप से फुल आस्तीन की कमीज और पैंट पहननी होगी.

- नगर निगम के अधिकारियों को 3 दिन के भीतर नालियों की सफाई और कूड़ा हटाने का निर्देश दिए गए हैं.

- मंडलायुक्त की तरफ से यह भी निर्देश दिया गया कि डेंगू को लेकर शहर में जगह-जगह जागरूकता कार्यक्रम चलाया

- शहर के सभी सिनेमाघरों में और मल्टीप्लेक्स में फिल्म के हर शो के पहले डेंगू से जुड़ी हुई जानकारी दिखाई जाए

कैसे करें बचाव

1. बारिश के दिनों में फुल शर्ट ही पहनें. पावों में जूते जरूर पहनें. शरीर को कहीं से भी खुला ना छोड़ें.

2. घर के आसपास या घर के अंदर पानी नहीं जमने दें. कूलर, गमले, टायर इत्यादि में जमे पानी को तुरंत बहा दें.

3. कूलर में यदि पानी है तो इसमें केरोसिन तेल डालें, जिससे कि मच्छर पनप ना पाएं.

4. सबसे पहले नजदीकी डॉक्टर से सहायता लें और खून में प्लेटलेट्स की जांच करवा लें.

5. मरीज को लगातार पानी देते रहें ताकि उसकी प्लेटलेट्स न गिरे. इसमें नारियल का पानी काफी फायदेमंद होता है.

Read more!

RECOMMENDED