नागरिकता बिल: वोटिंग से दूर रहे मिमी चक्रवर्ती समेत TMC के 6 सांसद

तृणमूल कांग्रेस लगातार मोदी सरकार के द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कई बार ऐलान किया है कि वह इस कानून को बंगाल में लागू नहीं होने देंगी.

TMC सांसद मिमी चक्रवर्ती (फोटो: PTI)
पॉलोमी साहा
  • नई दिल्ली,
  • 10 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 3:25 PM IST

  • लोकसभा में पास हुआ नागरिकता संशोधन बिल
  • मतदान के दौरान नदारद रहे TMC के 6 सांसद
  • अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती भी नहीं ले पाईं हिस्सा

लोकसभा से नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया है और अब इस बिल को राज्यसभा में लाने की तैयारी है. संसद में इस बिल का पुरजोर विरोध करने वाली तृणमूल कांग्रेस पार्टी के 6 सांसद बिल पर मतदान के दौरान अनुपस्थित रहे. अनुपस्थित रहे इन 6 सांसदों में अभिनेत्री से नेता बनीं सांसद मिमी चक्रवर्ती भी शामिल हैं. जबकि नुसरत जहां ने मतदान किया था.

तृणमूल कांग्रेस लगातार मोदी सरकार के द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कई बार ऐलान किया है कि वह इस कानून को बंगाल में लागू नहीं होने देंगी.

सोमवार को जब इस बिल पर सदन में चर्चा हुई तो तृणमूल कांग्रेस ने इसके विरोध में मतदान दिया. अभिनेत्री और सांसद नुसरत जहां ने इस मतदान में हिस्सा लिया, जबकि मिमी चक्रवर्ती हिस्सा नहीं ले सकीं. गौरतलब है कि मिमी चक्रवर्ती, नुसरत जहां दोनों ही लगातार चर्चा में बनी रहती हैं, फिर चाहे उनके बयान हो या फिर संसद में आने का अंदाज.

टीएमसी के ये 6 सांसद मतदान से रहे नदारद

-    मिमी चक्रवर्ती

-    देव

-    सीएम जतुआ (उनकी उम्र ज्यादा है, यही कारण रहा कि पार्टी ने रात को उन्हें सदन में उपस्थित होने से छूट दी.)

-    दिबयेंद्रु अधिकारी, शिशिर अधिकारी (दोनों सांसद अपने क्षेत्र में थे, क्योंकि ममता बनर्जी का वहां पर कार्यक्रम था)

-    खलीउर रहमान ( पारिवारिक कारणों से वह अनुपस्थित रहे)

गौरतलब है कि लोकसभा में TMC के कुल 22 सांसद हैं, पार्टी की ओर से सदन में इसका पुरजोर विरोध किया गया. सदन में टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने लोकसभा में बयान दिया था कि ये बिल संविधान के खिलाफ है, शायद अमित शाह भी सदन में नए हैं इसलिए उन्हें नियमों के बारे में नहीं पता है. टीएमसी की ओर से ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने भी इस बिल के खिलाफ बयान दिया था.

Read more!

RECOMMENDED