अवैध खनन मामलाः लोकायुक्त सौंपेंगे अपनी रिपोर्ट

लोकायुक्त एन संतोष हेगड़े अवैध खनन मामले में राज्य सरकार को आज अपनी वह रिपोर्ट सौंपेंगे जिसमें मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा पर दोषारोपण किया गया है.

संतोष हेगड़े
भाषा
  • बैंगलोर,
  • 27 जुलाई 2011,
  • अपडेटेड 2:54 PM IST

लोकायुक्त एन संतोष हेगड़े अवैध खनन मामले में राज्य सरकार को आज अपनी वह रिपोर्ट सौंपेंगे जिसमें मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा पर दोषारोपण किया गया है. इसके साथ ही येदियुरप्पा के दक्षिण में भाजपा की एकमात्र सरकार के नेतृत्व जारी रखने को लेकर प्रश्न खड़े होने शुरू हो गए हैं.

लोकायुक्त की रिपोर्ट में येदियुरप्पा, चार मंत्रियों के खिलाफ जांच करने की सिफारिश

भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने ‘इंतजार करो और देखो’ का रुख अपनाते हुए स्पष्ट कर दिया कि वह इस मामले में कोई भी निर्णय करने से पहले उस विशालकाय रिपोर्ट को देखेगी. भाजपा प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने राजधानी दिल्ली में कहा, ‘जैसा कि पार्टी अध्यक्ष ने कहा है, हम कोई भी निर्णय लेने से पहले लोकायुक्त रिपोर्ट का इंतजार करेंगे.’

येदियुरप्पा पर फैसला लोकायुक्त की रिपोर्ट मिलने के बाद: गडकरी चार हजार पृष्ठों वाली इस रिपोर्ट को मुख्य सचिव एस वी रंगनाथन को सौंपे जाने की संभावना है. गत सप्ताह लीक होने के बाद इस रिपोर्ट के कई निष्कर्ष पहले ही सार्वजनिक हो चुके हैं. इसमें अन्य लोगों के साथ ही येदियुरप्पा और 4 अन्य मंत्रियों पर दोषारोपण किया गया है.

येदियुरप्पा का इस्तीफा देने से साफ इनकार असंतुष्टों की ओर से उत्पन्न चुनौती और भूमि की अधिसूचना समाप्त करने को लेकर खड़े हुए विवाद से सफलतापूर्वक बाहर निकलने वाले येदियुरप्पा ने कहा है कि रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद वह उसे पढ़ेंगे और इसके बाद ‘उचित कदम उठाएंगे.’ येदियुरप्पा के अलावा अवैध खनन पर लोकायुक्त की इस रिपोर्ट में रेड्डी बंधुओं, जी जनार्दन और जी करुणाकर, बी श्रीरामुलू समेत चार मंत्रियों पर दोषारोपण किया गया है.

भाजपा के ही भीतर से उठने लगी येदियुरप्पा को हटाने की मांग

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रदेश में अवैध खनन के चलते मार्च 2009 से अप्रैल 2010 के बीच राजकोष को 1,800 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है.

वहीं येदियुरप्पा ने अगले दो साल मुख्यमंत्री पद पर बने रहने की बात कहने के साथ ही यह भी कहा कि वह पार्टी आलाकमान के फैसले को मानेंगे.

येदियुरप्पा के खिलाफ ‘पर्याप्त’ सबूतः हेगड़े

त्यागपत्र की मांग को लेकर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के हमले झेल रहे येदियुरप्पा ने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और गृह मंत्री पी. चिदंबरम को स्पेक्ट्रम मुद्दे पर पहले त्यागपत्र देने चाहिए. उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह ‘केंद्र सरकार के घोटालों’ पर पर्दा डालने के लिए कर्नाटक मुद्दे का इस्तेमाल कर रही है.

दूरसंचार मुद्दे पर पहले प्रधानमंत्री, गृह मंत्री इस्तीफा दें: येदियुरप्पा 

उन्होंने कहा, ‘जनता को सब समझ में आ गया है.’ उन्होंने अवैध खनन मुद्दे पर कहा कि वास्तव में विपक्षी कांग्रेस और जद(एस) को कटघरे में खड़ा किया जाना चाहिए क्योंकि इसकी शुरुआत उन्होंने की थी और ‘लूट’ की. उन्होंने कहा कि लोकायुक्त की ओर से रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद वह भाजपा केंद्रीय नेताओं से मुलाकात करेंगे.

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो देखने के लिए जाएं http://m.aajtak.in पर.

Read more!

RECOMMENDED