महाराष्ट्र-राजस्थान से घर लौटे मजदूर, शनिवार को रेलवे ने चलाईं 10 ट्रेनें

लखनऊ में भी 800 प्रवासी मजदूरों को लेकर एक ट्रेन रविवार सुबह चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंची. ये ट्रेन महाराष्ट्र के नासिक से मजदूरों को लेकर यहां आई है. वहीं महाराष्ट्र के भिवंडी से लगभग 1200 मजदूरों को लेकर एक ट्रेन गोरखपुर के लिए रवाना हो चुकी है. ये ट्रेन रात 1.23 मिनट पर भिवंडी से रवाना हुई.

भिवंडी में ट्रेन में चढ़ने के लिए इंतजार करते लोग (फोटो- पीटीआई)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 03 मई 2020,
  • अपडेटेड 8:29 AM IST

  • जयपुर से पटना आए फंसे मजदूर
  • शनिवार को चली 10 ट्रेनें
  • महाराष्ट्र से यूपी के मजदूरों को लेकर आई
देश भर में फंसे मजदूरों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेनें अब अपने गंतव्य स्थानों तक पहुंच रही हैं. इसी के साथ 40 से 45 दिनों तक फंसे मजदूर-छात्रों के चेहरों पर अब घर पहुंचने का संतोष देखा जा सकता है. इसी कड़ी में कोटा में फंसे झारखंड के छात्रों को लेकर एक ट्रेन रांची पहुंच गई है.

महाराष्ट्र से यूपी आ रही हैं दो ट्रेन

लखनऊ में भी 800 प्रवासी मजदूरों को लेकर एक ट्रेन रविवार सुबह चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंची. ये ट्रेन महाराष्ट्र के नासिक से मजदूरों को लेकर यहां आई है. वहीं महाराष्ट्र के भिवंडी से लगभग 1200 मजदूरों को लेकर एक ट्रेन गोरखपुर के लिए रवाना हो चुकी है. ये ट्रेन रात 1.23 मिनट पर भिवंडी से रवाना हुई.

केरल से मजदूरों को लेकर झारखंड के लिए निकली ट्रेन

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि प्रवासी मजदूरों और फंसे हुए लोगों को लेकर एक ट्रेन तिरुवनंतपुरम से निकल चुकी है, जबकि दूसरी ट्रेन कोझिकोड़ से झारखंड के लिए निकली है.

हैदराबाद में 300 मजदूरों का प्रदर्शन

इस बीच हैदराबाद में 300 प्रवासी मजदूरों ने हंगामा किया. इन मजदूरों का कहना है कि स्थानीय प्रशासन उन्हें रेलवे स्टेशन नहीं जाने दे रहा है. इनका कहना है कि इनके पास अब खाने-पीने को कुछ नहीं बचा है और इन्हें घर जाने दिया जाना चाहिए.

जयपुर से पटना पहुंचे मजदूर

पटना के पास दानापुर रेलवे स्टेशन में शनिवार दोपहर करीब 2 बजे ट्रेन जयपुर से मजदूरों को लेकर ट्रेन आई. इस ट्रेन से 1187 प्रवासी मजदूर सवार थे. पिछले कई हफ्तों से ये मजदूर जयपुर में फंसे हुए थे.

सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए तमाम मजदूरों को पास के रेल स्कूल ले जाया गया, जहां इनकी स्क्रीनिंग की गई. यहां से तमाम मजदूरों को अपने-अपने गृह जिले में भेजा गया.

शनिवार को चली 10 ट्रेनें

रेलवे ने शनिवार को कहा कि यूपी, बिहार और झारखंड के लगभग 10 हजार मजदूरों को आठ राज्यों से ले जाने के लिए 10 ट्रेनें चलाई गई हैं. रेल मंत्रालय के मुताबिक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, केरल, राजस्थान, महाराष्ट्र और गुजरात में फंसे यूपी, बिहार और झारखंड के मजदूरों को लेकर जाने के लिए ट्रेनें चलाई गईं.

कोटा से छात्रों की वापसी का सिलसिला जारी

लॉकडाउन के दौरान कोटा में फंसे कोचिंग स्टूडेंट्स की घर वापसी का दौर जारी है. बसों के साथ अब ट्रेनों से भी स्टूडेंट्स की सकुशल रवानगी होने लगी है. इसी क्रम में शनिवार को बसों के जरिए दिल्ली, ओडिशा, त्रिपुरा और केरल के स्टूडेंट्स रवाना हुए. इसके साथ ही रात 9.30 बजे बोकारो, धनबाद, गिरिडीह, कोडरमा, दुमका, देवघर, जामताड़ा, गोड्डा, साहेबगंज, पाकुड के लिए भी सिंगल ट्रिप माइग्रेंट स्पेशल ट्रेन रवाना हुई.

आज से 6 मई के बीच ट्रेन से बिहार के छात्रों को रवाना किया जाएगा. रविवार से इसकी शुरुआत बेगूसराय और गया स्टेशन के लिए की जाएगी. बेगूसराय के लिए सुबह 9.30 बजे और गया के लिए रात 9 बजे ट्रेन रवाना होगी.

शनिवार को कोटा से दिल्ली के लिए 29 बसों से 543 स्टूडेंट्स, 10 बसों में त्रिपुरा के लिए 236, केरल के लिए एक बस में 27 और ओडिशा के लिए 11 बसों से 260 स्टूडेंट्स रवाना हुए.

Read more!

RECOMMENDED