दुनिया के सबसे बड़े अल्ट्रा-मेगा सौर ऊर्जा प्लांट को मंजूरी

मध्य प्रदेश के रीवा जिले में मंगलवार को दुनिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा प्लांट को स्थापित करने की मंत्री परिषद ने मंजूरी दे दी. 750 मेगावाट क्षमता के इस अल्ट्रा-मेगा सौर ऊर्जा प्लांट की स्थापना के लिए संयुक्त कंपनी बनाने का भी फैसला लिया गया है.

aajtak.in
  • भोपाल,
  • 29 अप्रैल 2015,
  • अपडेटेड 1:32 PM IST

मध्य प्रदेश के रीवा जिले में मंगलवार को दुनिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा प्लांट को स्थापित करने की मंत्री परिषद ने मंजूरी दे दी. 750 मेगावाट क्षमता के इस अल्ट्रा-मेगा सौर ऊर्जा प्लांट की स्थापना के लिए संयुक्त कंपनी बनाने का भी फैसला लिया गया है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में तय हुआ कि सौर ऊर्जा प्लांट परियोजना के लिए विश्व बैंक से ऋण उपलब्ध कराया जाएगा. नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग शासन की नीति के तहत परियोजना के लिए राजस्व भूमि के उपयोग की अनुमति देगा. परियोजना में उत्पादित बिजली के ग्रिड से अंर्तसयोजन और पारेषण लाइन का कार्य पॉवर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा किया जाएगा. परियोजना द्वारा उत्पादित 40 फीसदी बिजली को मध्य प्रदेश पावर मैनेजमेंट कंपनी खरीदेगी.

मंत्री परिषद ने मध्य प्रदेश वित्त निगम के श्रेणी 'अ' और 'ब' कर्मचारियों की रिटायरमेंट की आयु 58 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष करने का फैसला लिया. यह फैसला मध्य प्रदेश वित्त निगम के संचालक मंडल द्वारा की गई अनुशंसा पर लिया गया. मंत्री परिषद ने केंद्रीय कारा भोपाल की महिला बंदियों और केंद्रीय कारा उज्जैन के पुरुष बंदियों के लिए आईटीआई में अतिथि व्याख्याताओं के 14 पद सृजित करने का निर्णय लिया. प्रत्येक अतिथि व्याख्याता को मानदेय 110 रुपये प्रति चक्र या 10 हजार रुपये प्रतिमाह अधिकतम की दर से दिया जाएगा.

इनपुट- IANS

Read more!

RECOMMENDED