मध्य प्रदेशः सामूहिक विवाह सम्मेलन में हुई मंत्री के बेटे और बेटी की शादी

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह सम्मेलन में प्रदेश के पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने बेटे और बेटी की शादी करके एक नई मिशाल पेश की है. इस सामूहिक विवाह सम्मेलन करीब 1400 जोड़ों ने शादी की. वहीं मंत्री पुत्र और पुत्री की शादी भी सामूहिक विवाह सम्मेलन में हुई.

Shivraj Singh Chauhan
aajtak.in
  • सागर (मध्य प्रदेश),
  • 22 अप्रैल 2015,
  • अपडेटेड 10:18 PM IST

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह सम्मेलन में प्रदेश के पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने बेटे और बेटी की शादी करके एक नई मिशाल पेश की है. इस सामूहिक विवाह सम्मेलन करीब 1400 जोड़ों ने शादी की. वहीं मंत्री पुत्र और पुत्री की शादी भी सामूहिक विवाह सम्मेलन में हुई.

मंत्री गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक ने शिल्पी और बेटी अवंतिका ने नितिन के साथ मंच पर दूसरे जोड़ों के साथ एक दूसरे को वरमाला पहनाई. इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी वर वधुओं को आशीर्वाद दिया.

भार्गव ने कहा, 'एक धारणा है कि सामूहिक सम्मेलनों में गरीब कमजोर वर्गों की शादी होती है. मैंने अपने बेटे और बेटी की शादी इस आयोजन से करके यह भेदभाव खत्म करने का प्रयास किया है. शादी समारोह सामाजिक समरसता का प्रतीक है.'

इस हाई प्रोफाइल शादी में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , नन्द कुमार चौहान और मध्य प्रदेश बीजेपी के प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रभात झा सहित प्रदेश के मंत्री और बीजेपी नेता शामिल हुए.

सामूहिक सम्मलेन में शामिल होने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्री भार्गव के इस प्रयास पर सराहना की. उन्होंने कहा कि यह शादी समारोह सामाजिक समरसता का महाकुंभ है. मंत्री भार्गव ने अपने बेटे-बेटी की शादी करके नया आयाम जोड़ा है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होने वाली शादियों के जोड़ों का हालचाल जानने के लिए कुशल क्षेम योजना चलेगी. इसमें उन जोड़ो को सरकारी योजनाओं का लाभ भी दिलाया जाएगा.

Read more!

RECOMMENDED