MP: जानिए 20 मार्च को किए ट्वीट पर अब क्यों ट्रोल हो रही है 'कांग्रेस'?

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के साथ ही 20 मार्च को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. कमलनाथ के इस्तीफा देने के कुछ ही घंटों बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ था.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ
रवीश पाल सिंह
  • भोपाल,
  • 12 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 9:30 AM IST

  • 20 मार्च को MP कांग्रेस ने किया था ट्वीट
  • इस ट्वीट पर अब पार्टी हो रही है ट्रोल
सोशल मीडिया के इस दौर में ट्रोल होना कोई नई बात नहीं है. अक्सर नेता अपने बयानों की वजह से सोशल मीडिया पर ट्रोल होते रहते हैं लेकिन इन दिनों मध्यप्रदेश कांग्रेस अपने एक ट्वीट को लेकर जमकर ट्रोल हो रही है.

दरअसल, मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के साथ ही 20 मार्च को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. कमलनाथ के इस्तीफा देने के कुछ ही घंटों बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ था जिसमे लिखा था 'इस ट्वीट को सँभाल कर रखना- 15 अगस्त 2020 को कमलनाथ जी मप्र के मुख्यमंत्री के तौर पर ध्वजारोहण करेंगे और परेड की सलामी लेंगे. ये बेहद अल्प विश्राम है.'

आने वाला है 15 अगस्त

अब से तीन दिन बाद स्वतंत्रता दिवस है यानी 15 अगस्त, वो तारीख जिसपर कमलनाथ के बतौर मुख्यमंत्री तिरंगा फहराने का ट्वीट किया गया था. लिहाज़ा सोशल मीडिया यूजर्स ने 20 मार्च के इस ट्वीट पर कांग्रेस को ट्रोल करना शुरू कर दिया है. मध्यप्रदेश भाजपा के प्रवक्ता लोकेंद्र पाराशर ने कांग्रेस के ट्वीट के स्क्रीनशॉट ट्वीट करते हुए लिखा है कि 'हमने भी इसे संभाल कर रखा था. केवल 3 दिन बचे हैं, अब तो मान लो अल्पविराम नहीं पूर्ण विराम था. अच्छा होगा सरकार जाने के बाद आपकी चादर में जो बड़े-बड़े छेद हो रहे हैं, उनके लिए पैबंद ढूंढने का काम कर लो. अज्ञान और अहंकार की भी हद होती है.

बीजेपी के अलावा कई सारे सोशल मीडिया यूज़र इस पर कांग्रेस को ट्रोल कर रहे हैं. एक यूज़र ने इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा कि 'भैया, इस ट्वीट को और कितना संभालना है ???

वहीं एक और यूज़र ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'नया सूट बूट सिलवा लिया या नही'

इसके अलावा एक और यूज़र ने लिखा है कि 'इसी ब्रह्मांड मे करेंगे या समांतर कोई अलग ब्रह्मांड हैं जहा होगा ध्वजारोहण?

क्यों किया था ट्वीट?

दरअसल, कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कांग्रेस के 22 विधायकों ने मार्च में कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. इसके चलते 20 मार्च को कमलनाथ सरकार गिर गई थी जिसके बाद ही ये ट्वीट करते हुए कांग्रेस ने दावा किया था कि जल्द ही मध्यप्रदेश में एक बार फिर उसकी सरकार बनेगी लेकिन जिस तरह से कांग्रेस विधायकों का पार्टी छोड़ भाजपा की सदस्यता लेना जारी है उसके चलते फिलहाल कांग्रेस का ये ट्वीट झूठा साबित होता ही दिख रहा है.

Read more!

RECOMMENDED