दिल्‍ली पुलिस को हर रोज मिल रही 15 हजार ब्‍लैंक कॉल

आम तौर पर अपराध और अपराधियों के आगे पस्‍त दिखने वाली दिल्‍ली पुलिस इन दिनों एक अलग तरह ही समस्‍या से परेशान है. दिल्‍ली पुलिस कंट्रोल रूम को इन दिनों करीब 15 हजार गुमनाम फोन हर रोज आ रहे हैं. ब्‍लैंक कॉल से परेशान पुलिस ने अब इस समस्‍या से निपटने का मन बना लिया है.

दिल्‍ली पुलिस
aajtak.in
  • नई दिल्‍ली,
  • 09 अक्टूबर 2013,
  • अपडेटेड 1:45 PM IST

आम तौर पर अपराध और अपराधियों के आगे पस्‍त दिखने वाली दिल्‍ली पुलिस इन दिनों एक अलग तरह ही समस्‍या से परेशान है. दिल्‍ली पुलिस कंट्रोल रूम को इन दिनों करीब 15 हजार गुमनाम फोन हर रोज आ रहे हैं. ब्‍लैंक कॉल से परेशान पुलिस ने अब इस समस्‍या से निपटने का मन बना लिया है.

पुलिस अब ब्‍लैंक कॉल करने वालों का पता लगाकर उससे कड़ाई से निपटेगी. मजे की बात तो यह है कि पीसीआर के पास कुल जितने फोन किए जाते हैं, इनमें से 50 फीसदी गुमनाम ही होते हैं. ऐसे में पुलिस के लिए यह पता लगाना टेढ़ी खीर है कि इनमें से सही शिकायत दर्ज कराने वाले कौन हैं. इस वजह से पुलिस के काम में बाधा पड़ती है.

यही वजह है कि पुलिस ने अब ब्‍लैंक कॉल करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करने का फैसला किया है. पुलिस सरकारी कामकाज में बाधा पैदा करने वाली धारा के तहत केस दर्ज करेगी, जो कि गैरजमानती अपराध है. गौरतलब है कि दिल्‍ली पुलिस के पास हर रोज तकरीबन 28 हजार फोन आते हैं.

Read more!

RECOMMENDED