जून से शुरू हो सकती है मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन

जून से शुरू हो सकती है मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन, तेलंगाना और केरल सरकार ने रेलवे से किया आग्रह

फोटोः इंडिया टुडे
सुजीत ठाकुर
  • नई दिल्ली,
  • 14 मई 2020,
  • अपडेटेड 12:42 PM IST

अगले मंगलवार से लॉकडाउन 4 में अधिकतम छूट मिलने की उम्मीद के बीच राज्यों को भरोसा है कि जून के पहले हफ्ते से मजदूर काम के लिए वापसी करना शुरू करेंगे. इसे देखते हुए राज्य सरकारें रेलवे से श्रमिक वापसी विशेष ट्रेन चलाने का आग्रह करेंगी. केरल और तेलंगाना सरकार ने इस बारे में रेलवे से अनुरोध किया है.

फिलहाल, रेलवे सिर्फ प्रवासी मजदूरों को अपने घर तक पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन कर रहा है.

रेलवे से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, अभी तक 6 लाख से अधिक मजदूर विभिन्न शहरों से अपने गांव तक पहुंच चुके हैं. पहले इन ट्रेनों से अधिकतम 1,200 यात्री सफर कर रहे थे लेकिन बीते सोमवार से 1,700 यात्री एक ट्रेन (24 कोच) से सफर कर रहे हैं.

चूंकि अभी ये ट्रेनें वापसी में खाली आ रही है क्योंकि इन्हें सिर्फ मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए शुरू किया गया था लेकिन राज्य सरकारों के आग्रह पर श्रमिकों की वापसी के लिए ट्रेन चलाने के लिए भी रेलवे तैयार है.

रेल मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है कि केरल और तेलंगाना ने श्रमिकों की वापसी के लिए विशेष ट्रेन चलाने का आग्रह किया है. 18 तारीख के बात कुछ अन्य राज्य सरकार भी इस तरह का आग्रह कर सकती हैं क्योंकि कई राज्यों में आर्थिक गतिविधियां शुरू हो गई है और 18 तारीख से आर्थिक गतिविधियां शुरू करने के लिए और छूट मिल सकती है. ऐसे में श्रमिकों की तत्काल जरूरत होगी.

उम्मीद है कि जून के पहले हफ्ते से मजदूरों की वापसी के लिए विशेष ट्रेन चलाने की जरूरत पड़ेगी.

तेलंगाना सरकार से प्राप्त जानकारी के मुताबिक यहां के चावल फैक्टरी में काम करने वाले ऐसे मजदूर वापसी के लिए मिल मालिकों से संपर्क में हैं जो होली की छुट्टी के दौरान अपने गांव गए थे और लॉक डाउन की वजह से वहां फंस गए. लगभग 6 हजार मजदूर वापसी के लिए संपर्क कर रहे हैं.

राज्य सरकार का कहना है कि जो मजदूर लॉक डाउन के दौरान अपने घर गए हैं उनमें से बहुत से लोगों ने मिल मालिकों से फोन पर संपर्क साध कर यह कहा है कि वह अभी आने की स्थिति में नहीं है लेकिन तब तक अपने रिश्तेदार को भेज सकते हैं.

केरल सरकार से मिली जानकारी के मुताबिक भी जो लेबर अपने घर गए हैं उन्होंने भी जाते हुए अपने नियोक्ताओं को भरोसा दिलाया है कि वह जल्द ही वापस लौटेंगे और तब तक वह अपने निकट के रिश्तेदारों को काम पर भेज सकते हैं. कर्नाटक सरकार से मिली जानकारी के मुताबिक, भवन निर्माण और उद्योगों में काम करने वाले लोगों से सरकार ने पहले रुकने का आग्रह किया था लेकिन जब वह नहीं माने तो सरकार ने उन्हे वापस भेजने का फैसला किया था.

अब धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियां तेज हो रही है और मजदूर लौटना चाहेंगे तो उनके लिए विशेष ट्रेन की व्यवस्था राज्य सरकार करने की कोशिश करेगी.

फिलहाल रेलवे कुछ चुनिंदा रूटों पर राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें चला रहा है. इसमें दोनों तरफ से आने वाले यात्रियों की तादाद अपेक्षा से अधिक है. इसलिए 22 मई से अन्य मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का विचार किया जा रहा है.

रेलवे बोर्ड के अधिकारी इस बात की पुष्टि करते हैं कि 22 मई से न सिर्फ मेल-एक्सप्रेस ट्रेन बल्कि शताब्दी जैसी ट्रेनों का परिचालन भी शुरू हो सकता है. इसके लिए रेलवे तैयार है. रेलवे इसके लिए गुरुवार से टिकटों की बुकिंग शुरू करेगा. 15 तारीख से बुक होने वाली टिकटों पर 22 मई से यात्रा की अनुमति होगी. अर्थात 22 मई को चलने वाली ट्रेनों के लिए 15 मई से बुकिंग शुरू होगी.

***

Read more!

RECOMMENDED