कमल हासन बोले- किसी का भक्त नहीं, असली गांधी दिखाने के लिए बनाई 'हे राम'

कमल हासन 7 नवंबर को 65 साल के हो गए. ये जन्मदिन अभिनेता के लिए इसलिए भी खास था क्योंकि उनका फिल्मी सफर भी 60 साल का हो गया है.

कमल हासन
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 09 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 9:48 PM IST

कमल हासन 7 नवंबर को 65 साल के हो गए. ये जन्मदिन अभिनेता के लिए इसलिए भी खास था क्योंकि उनका फिल्मी सफर भी 60 साल का हो गया. वहीं अपने करियर की फिल्म 'हे राम' को लेकर हासन ने कहा कि वे किसी के भक्त नहीं हैं.

वहीं इस खुशी के मौके पर उन्होंने खुद की निर्देशित फिल्म 'हे राम' की स्पेशल स्क्रीनिंग रखी. इस फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग चेन्नई में आयोजित की गई थी. वहीं फिल्म की स्क्रीनिंग के बाद कमल हासन ने फिल्म से जुड़े कई किस्से भी शेयर किए.

कमल हासन का कहना है कि गांधी को खोजना एक व्यक्तिगत यात्रा थी. उन्होंने कहा, 'मैं किसी का भक्त नहीं हूं. उनके आसपास बहुत प्रभामंडल था, इसलिए मैं इसके पीछे का चेहरा देखना चाहता था और मुझे यह नहीं मिला. जब मैंने गांधी और नेहरू की बात करते हुए तस्वीरें देखीं तो मैंने गंभीरता से इसपर सोचा.'  कमल हासन का कहना है कि असल गांधी को दिखाने के लिए उन्होंने हे राम बनाई.

कई विवाद भी हुए

बता दें कि कमल हासन की फिल्म 'हे राम' साल 2000 में रिलीज हुई थी. इस दौरान इस फिल्म को लेकर कई विवाद भी देखने को मिले थे. ये फिल्म साकेत राम पर आधारिक है, जो महात्मा गांधी को मारने की कोशिश करता है. 'हे राम' भारत के विभाजन और लोगों पर होने वाले परिणामों पर आधारित है.

कमल हासन की फिल्म 'हे राम' ने तीन राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीते थे. साथ ही भारत और विदेशों में ये फिल्म काफी सराही गई. बता दें कि इस साल महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाई जा रही है. गांधी के विचारों को लोगों तक पहुंचाने के लिए नरेंद्र मोदी भी कई सारे सार्थक प्रयास कर रहे हैं.

Read more!

RECOMMENDED