स्टूडेंट्स कर सकते हैं पैशन फॉलो, नहीं मन तो बीच में छोड़ सकते हैं पढ़ाई: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई शिक्षा नीति के बारे में कई बातें बताई, साथ ही उन्होंने बताया कैसे ये नीति उन छात्रों के लिए लाभदायक साबित होगी जो अपना पैशन फॉलो करना चाहते हैं. यहां पढ़ें डिटेल्स.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 07 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 2:05 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शिक्षा नीति पर अपने विचार रखे, जिसमें उन्होंने कहा कि तेजी से बदलते हुए समय और जरूरतों के हिसाब से शिक्षा नीति में बदलाव किए गए हैं. शिक्षा नीति में 34 साल बाद बदलाव हुए हैं. इसके लागू होने से शिक्षा के स्तर में छात्रों को फायदा होगा. सबसे ज्यादा फायदा उन छात्रों को होगा जो अपना पैशन फॉलो करना चाहते हैं.

पीएम मोदी ने कहा, ''लंबे समय से ज्यादातर छात्र भेड़चाल के नियम को ही फॉलो किया करते थे. अगर कोई डॉक्टर बन रहा है तो सभी डॉक्टर बनना चाहते थे. यदि कोई इंजीनियरिंग की लाइन में जा रहा है तो सभी इसी लाइन में जाना चाहते थे. लेकिन कोई अपने पैशन को फॉलो नहीं करता था. उन्हें करियर की चिंता सताती थी.''

नई शिक्षा नीति पर बोले PM मोदी- ये सिर्फ सर्कुलर नहीं, नया भारत तैयार करने की नींव

उन्होंने कहा कि वहीं हमने महसूस किया छात्रों के भीतर इमेजिनेशन की कमी. क्रिएटिव थिकिंग, फिलोसोफी ऑफ एजुकेशन की कमी है. ऐसे में हमने नई शिक्षा नीति के तहत मल्टीपल एंट्री (Multiple entry) और एग्जिट सिस्टम (exit system) सुविधा छात्रों को दी है. जिसका अर्थ है, छात्र अगर चाहे तो सेमेस्टर के बीच अपनी पढ़ाई छोड़कर अपना पैशन फॉलो कर सकते हैं.

क्या है (Multiple entry) और एग्जिट सिस्टम (exit system)

नई शिक्षा नीति (New Education Policy) के नीति के अनुसार, अगर कोई छात्र किसी भी कारणवश पढ़ाई को बीच सेमेस्टर में छोड़ देते हैं तो भी उन्हें सर्टिफिकेट और डिप्लोमा दिया जाएगा. अगर छात्र ने एक साल पढ़ाई की है तो सर्टिफिकेट, दो साल बाद डिप्लोमा दिया जाएगा. वहीं अगर कोर्स पूरा किया है तो डिग्री दी जाएगी.

NEP के किन प्रावधानों को बताया जा रहा क्रांतिकारी, किन पर उठे सवाल

पीएम मोदी ने कहा कि मान लीजिए यदि कोई छात्र किसी कोर्स को छोड़कर दूसरे कोर्स में एडमिशन लेना चाहे, वह ऐसा कर सकता है. इसके लिए वह पहले कोर्स से एक निश्चित समय तक ब्रेक ले सकते हैं और दूसरा कोर्स जॉइन कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम ऐसे दौर में पहुंच रहे हैं जिसमें कोई व्यक्ति जीवन भर किसी एक प्रोफेशन में नहीं रहेगा. अब बदलाव निश्चित है. आप ये मानकर चल सकते हैं.

Read more!

RECOMMENDED