कांग्रेस विधायक के भतीजे की हत्या पर इनाम रखने वाला युवक हुआ गिरफ्तार

सोशल मीडिया पर जारी किए गए वीडियो में शाहवेज रिजवी ने कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे नवीन का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की थी. रिजवी का वह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा था.

मेरठ से पुलिस ने किया गिरफतार (फोटो: Aajtak)
कुमार अभिषेक
  • मेरठ,
  • 14 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 9:24 PM IST

  • विधायक के भतीजे पर रखा था 51 लाख का इनाम
  • मेरठ पुलिस ने शुक्रवार को किया युवक को अरेस्ट

बेंगलुरु हिंसा को लेकर विवादित बयान देने वाले और कांग्रेस विधायक के भतीजे के सिर पर 51 लाख का इनाम रखने वाले युवक को शुक्रवार को यूपी पुलिस ने मेरठ से गिरफ्तार कर लिया है. बता दें कि गुरुवार 13 अगस्त को मेरठ जिले के ग्राम रसूलपुर थाना फलावदा निवासी शाहवेज रिजवी द्वारा ट्विटर अकाउंट पर बेंगलुरु के विधायक के भतीजे का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की गई थी.

सोशल मीडिया पर जारी किए गए वीडियो में शाहवेज रिजवी ने कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे नवीन का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की थी. रिजवी का वह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा था.

यह भी पढ़ें: बेंगलुरु हिंसा पर बोले कर्नाटक के गृह मंत्री- घटना में थी एसडीपीआई की भूमिका

शाहवेज की इस घोषणा पर थाना पुलिस द्वारा स्वत: संज्ञान लेते हुए थाने के उपनिरीक्षक की तरफ से मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी के लिए दो टीमें बनाई गई थीं. शुक्रवार को उसकी गिरफ्तारी कर ली गई है. प्रकरण में आवश्यक विधिक कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है.

क्या है मामला?

बेंगलुरु के जीडे हल्ली इलाके में मंगलवार रात करीब 9.30 बजे उपद्रवियों ने कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के घर को निशाना बनाया था. इस दौरान विधायक के घर का एक हिस्सा आग के हवाले कर दिया गया था. दरअसल, विधायक श्रीनिवास के भतीजे ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट किया था, जिसके बाद लोगों ने जमकर बवाल मचाया था.

यह भी पढ़ें: बेंगलुरु हिंसा पर कांग्रेस विधायक का आरोप- उपद्रवियों को पैसे बांटे गए, CBI जांच हो

सैंकड़ों की संख्या में लोगों के जरिए विधायक के घर को निशाना बनाने के बाद पुलिस स्टेशन पर भी हमला किया गया था. वहीं हिंसा के दौरान कई वाहनों को आग के हवाले भी कर दिया गया था. हमले में एडिशनल पुलिस कमिश्नर समेत 60 पुलिसकर्मियों को चोटें आईं थीं.

Read more!

RECOMMENDED