पॉलिथीन में नहीं दिया बिस्किट तो दिल्ली में कर दिया दुकानदार का कत्ल

राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगा दिया गया है. लेकिन अब प्लास्टिक न देने पर कत्ल की सनसनीखेज खबर दिल्ली से आई है. यहां पर बेकरी में काम करने वाले एक शख्स की सिर्फ इस वजह से हत्या कर दी गई क्योंकि उसने पॉलिथीन में सामान नहीं दिया था.

सांकेतिक तस्वीर.
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 22 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 11:59 AM IST

  • दिल्ली में प्लास्टिक के लिए कत्ल
  • मामूली झगड़े में शख्स की हत्या
राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगा दिया गया है. लेकिन अब प्लास्टिक न देने पर कत्ल की सनसनीखेज खबर दिल्ली से आई है. यहां पर बेकरी में काम करने वाले एक शख्स की सिर्फ इस वजह से हत्या कर दी गई क्योंकि उसने पॉलिथीन में सामान नहीं दिया था.

खलील के सिर पर ईंट से वार

ये घटना दिल्ली के दयालपुर थाना के चांद बाग इलाके की है. यहां पर 45 साल का खलील अहमद एक बेकरी की दुकान में काम करता था. खलील अहमद के रिश्तेदारों का कहना है कि उसका फैजान नाम के शख्स से दुकान पर झगड़ा हुआ, फैजान ने ईंट से खलील अहमद के सिर पर जोरदार हमला कर दिया. अचानक हुए हमले से खलील अहमद को संभलने का भी मौका नहीं मिला वो वहीं पर गिर गया. इधर मौके का फायदा मिलाकर फैजान वहां से फरार हो गया.

पॉलिथीन में सामान नहीं देने पर हमला

आनन-फानन में वहां मौजूद लोग खलील अहमद को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल ले गए, लेकिन वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. खलील अहमद के रिश्तेदार का कहना है कि फैजान से उसकी लड़ाई पॉलिथीन को लेकर हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक फैजान खलील से प्लास्टिक में भरकर सामान मांग रहा था, लेकिन खलील प्लास्टिक बंद होने का हवाला देकर उसे पॉली बैग में सामान नहीं दे रहा था. पहले तो दोनों के बीच कहासुनी हुई, लेकिन तुरंत दोनों के बीच बात बढ़ गई और खूनी झड़प में तब्दील हो गई. इसी दौरान फैजान ने खलील के सिर पर ईंट दे मारा. ये मामला लगभग एक सप्ताह पहले 15 अक्टूबर का है.

2 अक्टूबर से प्लास्टिक पर रोक

पुलिस ने डेड बॉडी का पोस्टमार्टम कराया है और घटना की जांच शुरू कर दी है. बता दें कि दिल्ली के किराना दुकानों, सब्जी बाजारों में इस वक्त प्लास्टिक नहीं मिल रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर लोगों से सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील की थी.

Read more!

RECOMMENDED