अंतरराष्ट्रीय चाइल्ड पोर्न रैकेट का पर्दाफाश, CBI ने 7 पर दर्ज किया केस

WhatsApp पर एक ग्रुप में बच्चों की अश्लील तस्वीरें साझा की जा रही थीं. ये सभी सात लोग उस ग्रुप का हिस्सा थे. इस मामले को जर्मनी की फेडरल पुलिस ने आगे बढ़ाया था. ये सभी सात लोग भारतीय हैं.

सांकेतिक तस्वीर
मुनीष पांडे
  • नई दिल्ली,
  • 14 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 9:13 PM IST

  • जर्मन पुलिस ने इस गिरोह का पर्दाफाश किया है
  • इस गिरोह के 7 मेंबर पर सीबीआई ने दर्ज किया केस

जर्मनी की पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय चाइल्ड पोर्न रैकेट का पर्दाफाश किया है. इसके तार भारत से भी जुड़े हैं. जर्मन पुलिस के निर्देश पर भारत में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने सात आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

ये सभी आरोपी एक WhatsApp ग्रुप के मेंबर हैं. दरअसल, WhatsApp पर एक ग्रुप में बच्चों की अश्लील तस्वीरें साझा की जा रही थीं. ये सभी सात लोग उस ग्रुप का हिस्सा थे. इस मामले को जर्मनी की फेडरल पुलिस ने आगे बढ़ाया था. इस ग्रुप का खुलासा जर्मन पुलिस ने ही किया था. ऐसे समूहों पर नकेल कसने की तैयारी चल रही है जो डार्क वेब और सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं.

सीबीआई की एफआईआर के मुताबिक, जर्मन पुलिस ने सैशे ट्रेपकी नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया था. जांच के बाद उसे गुनहगार पाया गया और कोर्ट ने उसे 5 साल जेल की सजा सुनाई.

क्या है पूरा मामला?

एफआईआर में कहा गया है कि जांच के दौरान जर्मन पुलिस ने आरोपी के घर पर छापा मारा जिसमें कई संदिग्ध चीजें बरामद की गईं. इस कार्रवाई में बच्चों के पोर्न से जुड़े पिक्चर और वीडियो बरामद हुए. जांच में यह बात भी सामने आई कि आरोपी इससे जुड़े 29 व्हाट्सअप ग्रुप चला रहा था. इस ग्रुप के मेंबर अश्लील सामग्री शेयर करते थे.

इन 29 ग्रुप पर 483 लोग सक्रिय थे जिनमें 7 भारतीय भी हैं. जिन 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है उनके नाम हैं-विनोत काना, जुहेब अली, खोजेमा एच, राकेश कुमार, अभिषेक कुमार त्रिपाठी, जयदीप रॉय और रहीस. इनके खिलाफ सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है और शुरुआती जांच में आरोपियों के खिलाफ मामले सही साबित हुए हैं. जिन आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज हैं, उनकी गिरफ्तारी जल्द होने की संभावना है.

Read more!

RECOMMENDED