कानपुरः ब्लैकमेलिंग से तंग आकर बीटेक छात्र ने की आत्महत्या, फेसबुक पर लिखा सुसाइड नोट

कानपुर में सीधे-साधे छात्रों को लड़कियों के जाल में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाला गैंग सक्रिय है. जिसके चंगुल में फंसकर छात्रों को अपनी जान तक गंवानी पड़ रही है. बीटेक छात्र के सुसाइड ने इस बात का खुलासा कर दिया है.

सत्यम ने मरने से पहले ही फेसबुक पर सुसाइड नोट लिख दिया था
रंजय सिंह
  • कानपुर,
  • 15 दिसंबर 2020,
  • अपडेटेड 4:10 PM IST
  • लड़की के जाल में फंसाकर ब्लैकमेलिंग
  • कानपुर में सक्रिय है ब्लैकमेलिंग गिरोह
  • पहले ही FB पर लिख दिया था सुसाइड नोट

उत्तर प्रदेश के कानपुर में ब्लैकमेलिंग गिरोह से तंग आकर बीटेक के एक छात्र ने आत्महत्या कर ली. इससे पहले उसने अपनी फेसबुक वॉल पर एक सुसाइड नोट भी लिखा था. पुलिस ने इस मामले में एक लड़की समेत चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. अब पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है. पटना में पीड़ित की नौकरी भी लग गई थी. उसे 22 दिसंबर को वहां ज्वॉइन करना था. 

कानपुर में सीधे-साधे छात्रों को लड़कियों के जाल में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाला गैंग सक्रिय है. जिसके चंगुल में फंसकर छात्रों को अपनी जान तक गंवानी पड़ रही है. बीटेक छात्र के सुसाइड ने इस बात का खुलासा कर दिया है. मरने से पहले छात्र ने फेसबुक पर सुसाइड नोट लिखा था. जिसमें एक लड़की समेत तीन लड़कों पर ब्लैकमेलिंग करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने छात्र के सुसाइड नोट के आधार पर एफआईआर दर्ज करके एक आरोपी युवक को गिरफ्तार भी कर लिया है.

मृतक की पहचान सत्यम अवस्थी के रूप में हुई है. पनकी के रहने वाले सत्यम ने सोमवार की रात को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. उसने फेसबुक पर लिखे गए सुसाइड नोट में अपनी मौत के लिए शुभम कुशवाहा, आकाश तिवारी, नितिन मिश्रा और अंकिता अग्निहोत्री को जिम्मेदार बताया है. उसने सत्यम पर आरोप लगाया कि वो उसे ब्लैकमेल करके दो लाख रुपये ले चुका है. आरोपी उसे सरेआम बेइज्जत करते हैं. चारों आरोपी ही उसकी मौत के लिए जिम्मेदार हैं. 

देखें- आजतक LIVE TV

मृतक सत्यम के घरवालों का आरोप है कि इलाके में एक पूरा गैंग है, जो लड़कों को ब्लैकमेल करता है. मृतक के भाई देवेंद्र शुक्ला ने बताया कि सत्यम का किसी लड़की से प्रेम प्रसंग था. इन लड़कों ने उस लड़की के साथ उसका फोटो खींचा. उसी के आधार पर ये उसे ब्लैकमेल कर रहे थे. उससे दो लाख की रकम वसूल चुके थे. अब उससे पांच लाख और मांग रहे थे. ये पनकी गंगागंज एक पूरा गैंग है, जो भोले-भाले लड़कों को फंसाकर ब्लैकमेल कर रहा है. 

जानकारी के मुताबिक सत्यम बीटेक पास कर चुका था. पटना में उसकी जॉब भी लग गई थी. वहां उसे 22 दिसंबर को ज्वॉइनिंग देनी थी. लेकिन ब्लैकमेलिंग से वो इतना परेशान था कि उसने मरने से चौबीस घंटे पहले ही सुसाइड नोट लिख दिया था. अंदाजा लगाइए कि वो इस दौरान कितने दर्द से गुजरा होगा. चारों आरोपी दो साल से सत्यम को ब्लैकमेल कर रहे थे. इन लोगों ने सत्यम के नाना के बैंक अकाउंट से भी पैसे निकलवाए थे.

पुलिस ने इन आरोपियों में से नितिन को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि अन्य तीन की तलाश जारी है. कानपुर के एसपी (वेस्ट) डॉ अनील कुमार ने बताया कि सत्यम नाम के लड़के ने सुसाइड कर लिया है. मृतक ने सुसाइड नोट में चार लोगों पर ब्लैकमेलिंग करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. आगे की जांच की जा रही है. 

 

Read more!

RECOMMENDED