दाऊद ने कुबूल किया, ‘हां मैं कराची में हूं’

भारतीय पुलिस और अदालतें जिसे कटघरे में खड़ा करने के लिए सालों से बेनतीजा मेहनत कर रही हैं. जिसके हाथ मासूमों के खून से रंगे हैं, वही दाऊद इब्राहिम खुद को प्रधानमंत्री के बराबर ताकतवर मानता है. ताजा टेप के अनुसार वह पाकिस्तान के कराची शहर में रह रहा है और खुद को पाकिस्तान के पीएम के बराबर बता रहा है.

दाऊद इब्राहिम
aajtak.in
  • ,
  • 27 दिसंबर 2014,
  • अपडेटेड 9:57 AM IST

भारतीय पुलिस और अदालतें जिसे कटघरे में खड़ा करने के लिए सालों से बेनतीजा मेहनत कर रही हैं. जिसके हाथ मासूमों के खून से रंगे हैं, वही दाऊद इब्राहिम खुद को प्रधानमंत्री के बराबर ताकतवर मानता है. ताजा टेप के अनुसार वह पाकिस्तान के कराची शहर में रह रहा है और खुद को पाकिस्तान के पीएम के बराबर बता रहा है.

वह खुद को ही अदालत, वकील, जज सब मानता है. सिर्फ मानता ही नहीं बल्कि इसी अंदाज में वो अपने दुश्मनों को धमकी भी देता है. दाऊद इब्राहिम की ताजा तस्वीरें सरकार के पास पहले ही आ चुकी हैं. अब डॉन की आवाज को भी सरकार के जासूसों ने टेप कर लिया है.

सरकार के हाथ लगे एक टेप में दाऊद कह रहा है, ‘मेरे लोग मेरी आंखें और कान हैं. इसलिए मुझे बैठे-बैठे दुनिया की खबर मिल जाती है. प्रधानमंत्री खुद गलियों में नहीं घूमते. मेरे लफ्ज दस्तावेज़ हैं. दस्तावेज फाड़े जा सकते हैं, पर मेरा हुक्म नहीं.’ इस अंदाज में दाऊद धमकी देता है. वह पाकिस्तान के तटीय शहर कराची में बैठकर धमकी दे रहा था और उसकी यह आवाज दुबई में रिकॉर्ड की गई.

पाकिस्तान की सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई की निगरानी में दाऊद इब्राहिम कराची के क्लिफटन इलाके के व्हाइट हाउस नाम की बिल्डिंग में आराम से रहता है. इसी घर से जब वो दुबई में अरबों रुपये की प्रॉपर्टी की डील कर रहा था तो खुफिया एजेंसियों ने दाऊद की लाइव बातचीत टेप कर ली.

दाऊद की इस रिकॉर्ड की गई कॉल में यह माफिया सरगना किसी प्लॉट, फ्लैट या बंगले की डील नहीं कर रहा है, बल्कि वो दुबई के सबसे बेशकीमती इलाके में 8-8 बहुमंजिली इमारतों की खरीद-फरोख्त की अरबों-खरबों की सीधी डील करता हुआ सुनाई दे रहा है.

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक करीब 1100 करोड़ रुपये की डील में पाकिस्तान के रसूखदार बिजनेसमैन के लड़के यासीर ने दाऊद इब्राहिम को गुमराह किया था. दाऊद उसी यासीर को इस फोन कॉल में धमकाता हुआ सुनाई दे रहा है. इस टेप में डॉन याशिर को यह कहते हुए डराते सुनाई दे रहा है कि ‘अगर डी कंपनी के साथ चालाकी की तो बख्शेगा नहीं.’

दाऊद इब्राहिम ने पहली बार फोन पर ये कबूल किया कि वो कराची के घर में बैठकर ही दुनिया भर की डील करता आया है. दाऊद की बातों से साफ है कि पाकिस्तान में 20 साल में उस पर सरकारी मेहरबानी ऐसी रही कि वो खुद को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के बराबर ताकतवर मानने लगा है.

दाऊद को भारतीय पुलिस पिछले दो दशक से तलाश कर रही है. इस दौरान सरकार ने ऐसे ना जाने कितने सबूत इकट्ठा किए जिससे साफ हो गया कि दाऊद पाकिस्तान में है. लेकिन पाकिस्तानी सरकार हर बार इसे झुठलाती रही. लेकिन फोन पर बातचीत के दौरान खुद दाऊद ने स्वीकार किया कि वह कराची के क्लिफटन रोड के घर में रहता है.

पाकिस्तान की हुकूमत चाहे जनरल मुशर्रफ के हाथ में रही हो या नवाज शरीफ के, इस्लामाबाद की सरकारों ने दाऊद इब्राहिम की कराची में मौजूदगी से हमेशा ही इनकार किया है. लेकिन पहली बार दाऊद इब्राहिम ने कराची में बैठे-बैठे कबूल किया है कि उसके घर क्लिंफटन से सात किलोमीटर दूर डाउनटाउन इलाके में उसके पास हजार करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी है.

दुबई के प्रॉपर्टी डीलर को दाऊद इब्राहिम ने फोन पर ये भी बताया कि अंडरवर्ल्ड का धंधा इकरारनामे और रजिस्ट्री पर नहीं चलता. अंडरवर्ल्ड में करोड़ों-अरबों की डील सिर्फ जुबान पर होती है. अंडरवर्ल्ड अदालत नहीं जाता, वो सिर्फ जुबान पर फैसला करता है.

दाऊद को भारत सरकार बीते दो दशक से ढूंढ रही है. वो मुंबई में हुए 1993 के बम धमाकों का गुनहगार है. लेकिन तब से वो पाकिस्तान में छिपा है. फोन पर होने वाली बातचीत से साफ है कि रियल एस्टेट और प्रापर्टी के धंधे में भी डी कंपनी की दादागीरी है. दुबई ही नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी दाऊद की बेशुमार बेनाम संपत्ति है और इनमें से ज्यादातर संपत्ति उसने अपने तरीके से हासिल की है.

Read more!

RECOMMENDED