3 दिन की सुस्‍ती के बाद बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्‍स 41,386 अंक पर बंद

सप्‍ताह के चौथे कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार की गिरावट पर ब्रेक लग गया. इस दौरान एलएंडटी के शेयर में सबसे अधिक तेजी रही.

निफ्टी 12 हजार 180 अंक पर बंद
aajtak.in
  • मुंबई,
  • 23 जनवरी 2020,
  • अपडेटेड 4:37 PM IST

  • सेंसेक्‍स 271.02 अंक की बढ़त के साथ 41,386.40 अंक पर बंद
  • कारोबार के अंत में यस बैंक के शेयर में 6.50 फीसदी की तेजी

बीते तीन कारोबारी दिन- सोमवार, मंगलवार और बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली.  इन तीन दिनों में सेंसेक्‍स ने कुल 830 अंक की बढ़त गंवा दी थी जबकि निफ्टी को करीब 245 अंक का नुकसान हुआ.

हालांकि अब सप्‍ताह के चौथे कारोबारी दिन यानी गुरुवार को इस गिरावट पर ब्रेक लग गया है. कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 271.02 अंक की बढ़त के साथ 41,386.40 अंक के स्‍तर पर बंद हुआ. इसी तरह निफ्टी की बात करें तो यह 73.45 अंक की तेजी के साथ 12,180.35 अंक पर रहा.

ये भी पढ़ें - तीन दिनों में 830 अंक लुढ़का सेंसेक्‍स, ONGC में 5 फीसदी की गिरावट

एलएंडटी के शेयर में तेजी

सबसे अधिक तेजी इंजीनियरिंग कंपनी लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) के शेयर में रही. इसके शेयर में 2.98 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई. दरअसल, कंपनी को चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 15 फीसदी का मुनाफा हुआ है और यह 2,560.32 करोड़ रुपये रहा. कुल आय की बात करें तो 36,717.60 करोड़ रुपये रही. इस दौरान 31 दिसंबर 2019 तक समूह स्तर पर कंपनी को 41,579 करोड़ रुपये के नए ऑर्डर मिले हैं.

बाजार बंद होने के बाद बीएसई इंडेक्‍स का हाल

यस बैंक में 6.50 फीसदी की तेजी

इस दौरान यस बैंक के शेयर में 6.50 फीसदी की तेजी रही. दरअसल, एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने यस बैंक को लेकर पॉजिटिव संकेत दिए हैं. उन्‍होंने कहा कि करीब 40 अरब डॉलर (2.85 लाख करोड़ रुपये) की बैलेंस शीट के साथ यह एक अहम बैंक है.  इसका विफल होना भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए ठीक नहीं होगा. रजनीश कुमार के मुताबिक कुछ समाधान जरूर निकलेगा.

ये भी पढ़ें:  1 फरवरी को शनिवार, बैंक बंद लेकिन खुले रहेंगे शेयर बाजार, ये है वजह      

एक्‍सिस बैंक को भी फायदा

चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एक्सिस बैंक का मुनाफा 4.5 फीसदी बढ़कर 1,757 करोड़ रुपये पर आ गया. वहीं बैंक के एनपीए में भी गिरावट आई है. इसका फायदा बैंक के शेयर को देखने को मिला और इसमें 2 फीसदी तक की तेजी रही. बता दें कि एक्‍सिस बैंक की नॉन परफॉर्मिंग एसेट यानी एनपीए घटकर 2.09 फीसदी रह गईं, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 2.36 फीसदी थीं.

Read more!

RECOMMENDED